24 बोतल पीने के बाद शख्स को संबंध बनाना पड़ा महंगा, गर्लफ्रेंड के साथ किया कुछ ऐसा कि…

लंदन: इंग्लैंड के डार्लिंगटन में एक ब्वाॅयफ्रेंड का हैरान कर देने वाले मामला सामने आया है। दरअसल, ब्वाॅयफ्रेंड ने नशे की हालत में गर्लफ्रेंड से शारीरिक संबंध बनाते समय उसका गला दबा दिया जिससे उस महिला की मौके पर ही मौत हो गई। इस मामले में टेसाइड क्राउन कोर्ट ने दोषी को पांच साल से भी कम की सजा दी है वहीं इस केस पर अटॉर्नी जनरल ने सवाल उठाए हैं।

पहले से शादीशुदा है ब्वाॅयफ्रेंड
बता दें कि डार्लिंगटन के रहने वाले 32 वर्षीय सैम पायबस को अपनी गर्लफ्रेंड सोफी मॉसकी हत्या के मामले में टेसाइड क्राउन कोर्ट ने पिछले महीने 4 साल और 8 महीने सजा सुनाई है। पायबस पहले से शादीशुदा है, जबकि 33 साल की सोफी भी दो बच्चों की मां थीं।

अटॉर्नी जनरल के सवाल के बाद बढ़ सकती हैं दोषी की सजा
अटॉर्नी जनरल द्वारा उठाए गए सवाल के बाद अदालत में अपील की है, जिसके बाद दोषी की सजा को बढ़ाने की चर्चा हो रही है। एक रिपोर्ट के अनुसार, अटॉर्नी जनरल के कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि मैं पुष्टि कर सकता हूं कि अटॉर्नी जनरल ने सैम पायबस की सजा को अपील के लिए फिर से अदालत में भेज दिया है, क्योंकि वह सहमत हैं कि यह अनुचित रूप से उदार फैसला है।

24 बोतल बियर पीने के बाद बना रहा था शारीरिक संबंध
टेसाइड क्राउन कोर्ट में सुनवाई के दौरान बताया गया था कि सैम पायबस ने इस साल फरवरी महीने में ब्रिटेन के डार्लिंगटन में 24 बोतल बियर पीने के बाद सोफी मॉस से उसके फ्लैट में शारीरिक संबंध बना रहा था और इस दौरान वह दस सेकंड या यहां तक कि करीब मिनटों तक प्रेमिका के गले पर दबाव डालता रहा, जिससे उसकी मौत हो गई थी।

अगली सुबह उठा तो सोफी कोई जवाब नहीं दे रही थी
सैम पायबस ने जांचकर्ताओं को बताया था कि वह बहुत नशे में था और जो कुछ हुआ था उसके बारे में उसे बहुत कम याद था। उसने बताया कि जब वह अगली सुबह उठा तो उसने सोफी को नग्न पाया और वो कोई जवाब नहीं दे रही थी। रिपोर्ट के अनुसार, पाइबस ने मदद के लिए इमरजेंसी नंबर 999 पर कॉल नहीं किया और डार्लिंगटन पुलिस स्टेशन में आत्मसमर्पण किया।

सोफी मॉस की मौत गला घोंटने से हुई
पोस्टमॉर्टम में पुष्टि हुई कि सोफी मॉस की मौत गला घोंटने से हुई है। पैथोलॉजिस्ट ने बताया कि मौत बहुत लंबे समय तक या जबरदस्ती गला घोंटने से हुई, हालांकि सोफी की बॉडी पर किसी अन्य तरह की हिंसा या चोट के निशान नहीं थे।

पायबस को चार साल और आठ महीने जेल की सजा सुनाई
जस्टिस पॉल वॉटसन क्यूसी ने पिछले महीने पायबस को चार साल और आठ महीने जेल की सजा सुनाई थी, इसके बाद वीमेन राइट्स कार्यकर्ता ने भी सजा पर आपत्ति जताई थी और कहा था कि ऐसा लगता है कि एक महिला की गला घोंटकर हत्या करना अभी भी एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना के रूप में देखा जाता है।