हो जाए सावधान: महिलाओं में ही नहीं पुरुषों में भी होने लगी ये बीमारी, कहीं आप तो…

अगर आप UTI का इलाज नहीं कराते तो इस वजह से आपकी किडनी पर बुरा असर पड़ सकता है ये संक्रमण किडनी तक फैलने की स्थिति में आपकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं. हालांकि बहुत कम ही मामलों में यह किडनी से जुड़े हुए रोगों की शक्ल लेता है. लेकिन कई बार ऐसा हो भी सकता है. इससे किडनी खराब हो जाती है. इस बीमारी के लक्षणों से घबराने या उसे छिपाने के बजाये आपको सही इलाज कराने की जरूरत है. जरूरत पड़ने पर इस इंफेक्शन का दुस्प्रभाव रोकने के लिये सर्जरी का विकल्प भी मौजूद है. महिलाओं में भी ये बीमारी काफी कॉमन हो गई है. मूत्रमार्ग में UTI की समस्या की समस्या की सबसे आम वजह यौन संचारित रोग (STD) है. क्लैमाइडिया और गोनोरिया इसकी 2 मुख्य वजह होती हैं. आपको बता दें कि इसके ज्यादातर मामले युवाओं में पाये जाते हैं.

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के लक्षण इस तरह हो सकते हैं. बार-बार यूरिन लगना. हर समय पेशाब लगने ऐसी स्थिति महसूस होना. यूरिन पास होने के बाद प्राइवेट पार्ट में दर्द या जलन होना. यूरिन से अजीब सी स्मेल आना, या यूरिन में ब्ल्ड आना. वहीं बाकी लक्षणों में पेट के निचले हिस्से या फिर हाथ या पीठ के ऊपरी हिस्से में दर्द रहना होते हैं. हालांकि इसके कई लक्षण ऐसे हैं तो पुरुषों में नहीं दिखाई देते जबकि वो भी इस UTI से पीड़ित हो सकते हैं.

यूरिन के रास्ते खून आना एक सामान्य बीमारी बनती जा रही है. इसे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTI) माना जाता है. ये दो तरह का होता है. पहला अप्पर और दूसरा लोअर. जब आपके ऊपरी भाग में इंफेक्शन होता है तो यह गुर्दे या मूत्रमार्ग की समस्या में गिना जाता है. वहीं जब लोअर संक्रमण होता है तो यह प्रोस्टेट और ब्लैडर में होता है. इसलिये घबराने की जरूरत नहीं है. समय रहते इसका इलाज कराके आप गंभीर खतरों से बच सकते हैं. बीमारी होने पर मरीजों को अक्सर इस तरह के मेडिकल उपकरण साथ रखने पड़ते हैं.

इस बीमारी का हमारी आदतों से भी संबंध है. हम अपने डेली रुटीन, लाइफ स्टाइल और प्रॉपर खान-पान के जरिये UTI नाम की इस बीमारी से काफी हद तक बच सकते हैं. फिर भी ये दिक्कत हो तो फौरन डॉक्टर की सलाह पर मेडिकल चेकअप कराना चाहिए. वहीं आप इस बीमारी को पैदा होने से नहीं रोक सकते. लेकिन अगर आप संबंध बनाने के दौरान समय और सुरक्षा का ध्यान रखें तो आप संचारित बीमारी से बच सकते हैं. इससे UTI का खतरा कम हो जाएगा. वहीं अगर आप प्रोस्टेट की समस्या से पीड़ित हैं तो उसका भी समय पर इलाज करा कर आप इस बीमारी से बचाव कर सकते हैं.

हमारे शरीर के अंदर कई महत्वपूर्ण अंग हैं जो अपना-अपना काम करते रहते हैं. उन्हीं में से एक है यूरिनरी ट्रैक. जो हमारे शरीर से यूरिन को बाहर निकालने का काम करता है. पुरुषों में यह भाग उनकी किडनी और गुर्दे में होता है. वहीं करीब में मूत्राशय (यूट्रस) और यूरेथरा भी होता है. आपको बता दें कि यूट्रस दो ट्यूब होती हैं जो पेशाब को आपकी किडनी से लेकर ब्लैडर तक लेकर जाती है.