सैंडविच ने किया महिला को प्रेग्नेंट? खाते ही करवाया प्रेग्नेंसी टेस्ट तो निकली 5 महीने की प्रेग्नेंट

दुनिया में कई तरह की अजीबोगरीब प्रेग्नेंसी (Weird Pregnancy) के मामले सामने आते हैं. कुछ महिलाओं ने दावा किया कि वो बिना सेक्स के प्रेग्नेंट (Pregnant Without Sex) हो गई तो कुछ को बच्चे पैदा होने के बाद अपनी प्रेग्नेंसी का पता चला. अब सोशल मीडिया पर अमेरिका के कलिफ़ोर्निया में रहने वाली एक महिला ने सैंडविच से प्रेग्नेंट होने की बात लिख सनसनी मचा दी. इस महिला ने लिखा कि उसे सैंडविच (Sandwich Pregnancy) ने पांच महीने का प्रेग्नेंट कर दिया. आगे की स्टोरी इससे भी ज्यादा मजेदार है.

जानकारी के मुताबिक़, कैलिफोर्निया (California) में रहने वाली जैस्मिन मिलेर (Jasmine Miller) ने अपनी फेवरिट सैंडविच ऑर्डर की.

उसे खाने के अगले दिन जैस्मिन की मां ने उसे कमेंट किया कि उसका पेट निकला हुआ लग रहा है. उन्होंने इसे सैंडविच खाने की वजह से हुए ब्लोटिंग में कंसीडर कर लिया. हालांकि, जैस्मिन ने हंसकर कहा कि सैंडविच खाने से वो प्रेग्नेंट हो गई है और प्रेग्नेंसी किट लेकर अपना टेस्ट करने लगी. टेस्ट के बाद जैस्मिन और उसकी मां हैरान रह गई.

निकली पांच महीने की प्रेग्नेंट
सैंडविच खाने के कारण फूले पेट को देखकर जब मजाक में जैस्मिन ने प्रेग्नेंसी टेस्ट किया तो पाया कि वो प्रेग्नेंट हो चुकी हैं. 24 साल की जैस्मिन को इससे पहले अपनी प्रेग्नेंसी का बिलकुल आइडिया नहीं था. सैंडविच खाकर घर आने के बाद उसके पेट पर मां की नजर पड़ी थी, जिन्होंने उसकी प्रेग्नेंसी को लेकर मजाक किया था. लेकिन ये मजाक सच निकला. टेस्ट रिजल्ट देखते ही जैस्मिन की हालत खराब हो गई. वो पांच महीने की प्रेग्नेंट थी.

इस कारण पता नहीं चल पाई असलियत
जैस्मिन पांच महीने की प्रेग्नेंट थी और उसे इसका पता भी नहीं चल पाया. इसके पीछे वजह थी उसका बर्थ कंट्रोल पिल्स पर होना. दरअसल, जैस्मिन काफी लम्बे समय से बर्थ कंट्रोल पिल्स ले रही थी. इस वजह से उसके पीरियड्स नहीं आते थे. जैस्मिन ने बताया कि उसका एक बॉयफ्रेंड है लेकिन दोनों परिवार शुरू करने को लेकर बिलकुल नहीं सोच रहे थे. हालांकि, अचानक मिली इस खबर से दोनों शॉक तो हुए लेकिन बाद में दोनों ने इसे एक्सेप्ट कर लिया और अब अपनी बेटी लाइटोन के साथ रह रहे हैं.

सात महीने में पैदा हो गई थी बेटी
जैस्मिन को पांच महीने की प्रेग्नेंसी का पता चला था. इस वजह से बच्चे को अबो्र्ट नहीं कर सकते थे. जैस्मिन और उसकी मां ने इस टेस्ट के बाद प्रेग्नेंसी से जुड़े प्रिकॉशन लेने शुरू किये. हालांकि, मात्र दो महीने अपनी दिया. प्री-मैच्योर होने की वजह से उसे काफी दिन तक आईसीयू में रखा गया. हालांकि, अब जैस्मिन अपनी बेटी के साथ मां के घर आ चुकी है.