रेप, माफी, शादी और फिर दिल्ली से नैनीताल ले जा पहाड़ी से दिया धक्का

डाबड़ी: डाबड़ी में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एक महिला से पहले दुष्कर्म किया गया, फिर आरोपी ने पीड़ित महिला से शादी की और बाद में उसे वैक्सीन लगवाने के बहाने उत्तराखंड की पहाड़ियों पर ले जाकर उसे धक्का दे दिया। महिला की हत्या के आरोपी युवक से डाबड़ी थाना पुलिस पूछताछ कर रही है। पुलिस ने मामला दर्ज कर केस की छानबीन के लिए नैनीताल में भी जांच की। द्वारका कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू की थी। जिसके बाद ही इस सनसनीखेज वारदात में परतें खुल रही हैं।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार डाबड़ी में रहने वाली एक महिला ने जुलाई 2020 में एक जानकार पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। पुलिस ने जांच के बाद अगस्त 2020 में केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया और जेल भेज दिया। कुछ महीनों बाद पीड़ित महिला ने कोर्ट और पुलिस को शपथपत्र देते हुए कहा कि वह आरोपी युवक से शादी कर रही है। ऐसे में केस वापस ले रही है। इसके बाद आरोपी को जेल से छोड़ दिया गया। अक्टूबर 2020 में दोनों ने शादी कर ली।

लेकिन शादी के बाद भी पति-पत्नी के रिश्ते ठीक नहीं थे। अक्सर दोनों के बीच छोटी-छोटी बातों को लेकर झगड़े होते थे। इस दौरान कई बार दोनों में हाथापाई तक होती थी। आरोपी उत्तराखंड के उधम सिंह नगर का रहने वाला। पुलिस के मुताबिक वह अपनी सास को पसंद नहीं करता था और उसका मानना था कि सास की वजह से ही उसकी पत्नी बार-बार मायके जाती है और दोनों के बीच झगड़े का कारण भी उसकी सास ही है। मिली जानकारी के अनुसार 7 जून 2021 को पति-पत्नी में झगड़ा हुआ तो पत्नी मायके चली गई। युवक ने 11 जून को पत्नी को फोन किया और उसे उत्तराखंड स्थित अपने घर आने को कहा। लेकिन, युवती के परिजन ने उसे नहीं जाने दिया। इस पर आरोपी ने अपने ससुरालवालों से बात की और माफी मांग कर वादा किया कि अब वह उनकी बेटी को परेशान नहीं करेगा। ससुरालवालों के मान जाने के बाद आरोपी अपनी पत्नी को कोरोना वैक्सीन लगवाने के नाम पर अपने घर लेकर चला गया।

पुलिस के मुताबिक, महिला की मां और उसका भाई अपनी बहन को उसके साथ नहीं जाने देना चाहते थे, क्योंकि वह उस पर भूखा रखकर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते थे। 11 जून को वह अपनी पत्नी को साथ ले जाने में कामयाब हो गया। अगले 4 दिनों तक राजेश की सास ने अपनी बेटी से बात करने की कोशिश की लेकिन बात नहीं हो सकी। पीड़ित महिला का फोन लगातार बंद रहा। परिजनों को शक हुआ और उन्होंने द्वारका कोर्ट में अपना दर्द बयां किया।

उन्होंने राजेश के खिलाफ बेटी के अपहरण की शिकायत दी, जिसके बाद कोर्ट ने जांच का आदेश दिया। पुलिस ने महिला और उसके पति की लास्ट लोकेशन पता की तो वह नैनीताल में एक साथ मिली। इसके बाद पुलिस ने उससे सख्ती से पूछताछ की। आरोपी टूट गया और उसने हत्या की बात मान ली। उसने बताया कि 11 जून को दिल्ली से वह सीधे नैनीताल गया, जहां अगले दिन उसने पहाड़ से अपनी पत्नी को नीचे फेंक दिया। आरोपी का कहना है कि वह रोज रोज से झगड़े से तंग आ गया था। फिलहाल, पुलिस को उसकी पत्नी का शव नहीं मिला है, जिसकी तलाश जारी है।