रात में नहीं आती नींद, सोने के लिए अपनाएं 10-3-2-1 का ये फॉर्मूला

दुनिया में बहुत सारे लोग ऐसे हैं, जो रोज रात को बेड पर करवट बदलते रहते हैं. इसके बावजूद उन्हें ढंग की नींद नहीं आती. यह कोई बीमारी नहीं बल्कि बिगड़ी लाइफ स्टाइल का एक नतीजा होता है.

अच्छी नींद लाने के लिए तैयार किया गया फॉर्मूला
ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस (NHS) के एक डॉक्टर के इस समस्या से निपटने के लिए 10-3-2-1 फॉर्मूला ईजाद किया है. डॉक्टर का दावा है कि इस फॉर्मूला पर अमल कर आप बिना किसी दवा या इलाज के आसानी से रोज बढ़िया नींद (Good Sleep) ले सकते हैं. डॉक्टर के इस फॉर्मूला की ब्रिटेन में जमकर चर्चा हो रही है.

10-3-2-1 ट्रिक से आएगी अच्छी नींद
द सन की रिपोर्ट के मुताबिक NHS में तैनात भारतीय मूल के डॉक्टर राज करण (Dr Raj Karan) ने यह फॉर्मूला टिक टॉक पर शेयर किया है. उन्होंने 10-3-2-1 ट्रिक को विस्तार में बताते हुए कहा कि सोने से 10 घंटे पहले कैफीन यानी चाय-कॉफी, कोल्ड ड्रिंक्स की मात्रा बेहद कम कर दें. कैफीन के सेवन से नींद भाग जाती है और रात को इंसान करवट बदलता रह जाता है. वे बताते हैं कि अगर आप रोज रात में 10 बजे बेड पर पहुंच जाते हैं तो दोपहर 12 बजे के बाद कैफीन से जुड़ी चीजों का सेवन बंद कर दें.

सोने से 3 घंटे पहले बंद कर दें हैवी डाइट
अगले टिप के बारे में वे कहते हैं कि सोने (Perfect Night Sleep) से 3 घंटे पहले हैवी डाइट या ड्रिंक का सेवन बंद कर दें. इससे 3 घंटे पहले खाए गए भोजन को पचाने के लिए शरीर को पर्याप्त समय मिल जाता है और रात को गैस या बदहजमी की दिक्कत नहीं होती. बेड पर कुछ देर तक शरीर को सीधा रखने के बाद आंखें जल्द ही नींद से बोझिल होने लगती हैं और इंसान गहरी निद्रा में चला जाता है.

बेड पर जाने से 2 घंटे पहले निपटा लें काम
डॉक्टर राज करण अपने तीसरे टिप के बारे में बताते हैं कि सोने (Good Sleep) से 2 घंटे पहले आप अपने रूटीन काम खत्म कर लें. ऐसा करने से आपका दिमाग रिलैक्स फील करेगा. जिससे बेड पर लेटते समय आपके मष्तिष्क में ऑफिस या घर के कामों को लेकर अनावश्यक उधेड़बुन नहीं रहेगी. इससे आपको अच्छी नींद आने में बहुत मदद मिलेगी.

सोने से एक घंटे पहले बंद कर दें सभी गैजेट
डॉक्टर राज करण अपने चौथे और अंतिम टिप के बारे में बताते हैं कि सोने (Perfect Night Sleep) से 1 एक घंटे पहले अपने टीवी, लैपटॉप और मोबाइल को बंद कर दें यानी स्क्रीन से दूर हो जाएं. दरअसल स्क्रीन से निकलने वाली ब्लू लाइट आंखों में दर्द पैदा करती है, जिसका असर दिमाग पर आते है. सोने से एक घंटा पहले सभी स्क्रीन बंद कर देने से आंखों और दिमाग को आराम मिलता है और आप जल्द ही नींद के आगोश में पहुंच जाते हैं.