मौत से ठीक पहले इंसान के दिमाग में चलती हैं ये बातें, जानकर रह जाओगे हैरान

मौत हमेशा से ही हर किसी के लिए रहस्य रही है जिसके बारे में अनेक तथ्यों पर वैज्ञानिक भी अपना दिमाग खा चुके है। इतना तो सब जानते है की मृत्यु एक सर्वभौम सत्य है पर फिर भी इसे लेकर लोगों के बीच सवाल हमेशा बने रहते है। अगर कोई जन्म लेता है तो उसी मृत्यु भी एक दिन तय होती है।

जन्म से लेकर मृत्यु के बीच एक लंबा रास्ता तय करना होता है। जन्म से पहले से ही दिमाग काम करना शुरु कर देता है। लेकिन क्या आपको पता हे जब कोई मरने वाला होता है तो उसका दिमाग कैसे काम करता है और मरने से ठीक पहले दिमाग क्या सोच रहा होता है।

ये तो किसी को भी अभीतक नहीं पता है। आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से दिमाग से जुड़ी कुछ रोचक तथ्यों के बारे में बताने वाले हैं जिसे पढ़कर आपको भी दिमाग चकरा जाएगा। मरने से पहले दिमाग क्या-क्या सोचता है इस बारे में सटीक जानकारी तो किसी को नहीं हैं।

वैज्ञानिकों ने इस बारे में कुछ जानकारी तो जरुर जुटाई है लेकिन पूरी जानकारी अभी तक एक राज ही बना हुआ है। वैज्ञानिकों ने इस बारे में कुछ अध्ययन जरुर किया है जिससे तंत्रिका-विज्ञान के बारे में दिलचस्प जानकारियां मिली हैं।

अपने अध्ययन के लिए वैज्ञानिकों ने कुछ मरीजों के तंत्रिका तंत्र की बारीक निगरानी की। इससे पहले उन्होंने मरीजों के परिवार वालों से अनुमती ली। वैज्ञानिकों ने जब इंसान और पशु दोनों के ही दिमाग का अध्ययन किया तो पाया कि मौत के वक्त दोनों के ही दिमाग एक ही तरीके से काम करे हैं।

इसके साथ ही एक ऐसा भी वक्त आता है जब दिमाग का काम-काज बंद हो जाता है लेकिन फिर से वो काम करना शुरु कर देता है। वैज्ञानिकों ने जितनी जानकारियां जुटाई है वो ज्यादातर पशुओं पर किए गए अध्ययन से मिली है।

हम अभी तक ये जानते हैं कि जब किसी की मौत होती है तो शरीर में खून का प्रवाह रुक जाता है और इस वजह से दिमाग में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है।

इस दौरान सेरेब्रल इस्किमया एक स्थिति पैदा हो जाती है जिससे रसायनिक अवयव कम हो जाते हैं और जिससे दिमाग में इलेक्ट्रिकल एक्टिविटी पूरी तरह खत्म हो जाती है।

वैज्ञानिक मौत की इस प्रक्रिया को और अच्छे से समझना चाहते थें इसलिए उन लोगों ने कुछ गंभीर अवस्था में पड़े मरीजों के दिमाग की न्यूरोलॉजिकल गतिविधियों की निगरानी की।