मोबाइल इस्तेमाल करते हुए ना करें य 10 गलतियां, वरना बम की तरह फट जाएगा फोन

नई दिल्ली. अमेरिका में एक फ्लाइट में स्मार्टफोन में आग लगने की वजह से खाली कराना पड़ा. वैसे तो स्मार्टफोन के फटने की खबरें बहुत कम आती है. लेकिन इस साल इसके मामले बढ़े हैं. कुछ महीने पहले वनप्ल्स नॉर्ड 2 के भी फटने की खबर सामने आई थी. इसकी सबसे पहली वजह होती है फोन की बैटरी. ज्यादा इस्तेमाल करने से बैटरी गर्म हो जाती है और फंट जाती है. कंपनियां ज्यादातर मामलों में यूजर की गलती ठहराते हैं. आज हम आपको ऐसी 10 गलतियों के बारे में बता रहे हैं, जिससे फोन फट का ज्यादा खतरा होता है. यूजर अंजाने में यह गलती कर बैठते हैं और उसका परिणाम काफी खतरनाक होता है.

डेमैज होने के बाद भी स्मार्टफोन का इस्तेमाल करना
अगर आपका फोन गिर जाए और डेमैज हो जाए, तो उसको तुरंत इस्तेमाल न करें. सबसे पहले उसको सर्विस सेंटर में ले जाएं. मान लीजिए अगर आपके फोन की स्क्रीन क्रैक हुई है, तो पानी या पसीना डिवाइस में प्रवेश कर सकता है और बैटरी को काम करने योग्य नहीं बनाता है. क्षतिग्रस्त फोन का उपयोग करना जोखिम भरा है.

डु्प्लिकेट या फेक चार्जर का इस्तेमाल
फास्ट चार्जिंग एडेप्टर का इस्तेमाल करने से बचे. अक्सर जल्दी चार्ज करने के लिए यूजर फास्ट चार्जिंग एडेप्टर खरीद लेते है. इससे बैटरी पर काफी दबाव पड़ता है. उसी एडेप्टर से फोन चार्ज करें, तो फोन के साथ आया है. इसके अलावा फेक या डुप्लिकेट चार्जर से भी फोन को चार्ज न करें.

फोन में थर्ड पार्टा या फेक बैटरी लगाना
थर्ड पार्टा या फेक बैटरी का इस्तेमाल बिल्कुल न करें. खराब लिथियम-आयन बैटरी ज़्यादा गरम कर सकती है, जिससे फोन में आग या फिर फट सकता है.

गर्म होने के बाद भी स्मार्टफोन का इस्तेमाल
अगर आपका फोन गर्म हो रहा है तो उसको तुरंत चार्जिंग से हटा दें और फोन को किनारे पर रख दीजिए.

फोन को चार्ज करने के लिए कार के चार्जर का उपयोग
पावर बैंक की जगह अधिकतर लोग सफर के दौरान कार के चार्जर का इस्तेमाल करते हैं, यह खतरनाक हो सकता है. अधिकतर कंपनियां चार्जिंग प्वाइंट के लिए थर्ड पार्टी वेंडर्स को हायर करती हैं. इससे आपके फोन को नुकसान पहुंच सकता है और उसमें आग लग सकती है.

ज्यादा चार्ज करना
अधिकतर लोग फोन को काफी देर तक चार्जिंग पर लगाते हैं. जरूरी नहीं कि 100 परसेंट होने पर ही फोन को चार्जिंग प्वाइंट से हटाया जाए. अगर आपको बैटरी को अच्छी लाइफ देनी है तो समझदारी है कि उसको 90 परसेंट पर ही निकाल लें. ओवरचार्जिंग से भी फोन गर्म हो सकता है.

डायरेक्ट सनलाइट में फोन का इस्तेमाल
याद रहे कि जब आप अपने फोन को चार्ज करें, तो वो धूम में न हो. आपके फोन को ज्यादा हीट की जरूरत नहीं होती है. याद रहे कि फोन को चार्ज करते समय धूप या फिर किसी गर्म चीज से दूर रखा जाए.

अपने स्मार्टफोन पर अनावश्यक दबाव डालना
जब आपका फोन चार्ज हो रहा हो, तो उस पर ज्यादा दबाव न डालें. लोग चार्ज करते समय भी फोन का इस्तेमाल करते हैं. यह खतरनाक साबित हो सकता है.

स्मार्टफोन को पावर स्ट्रिप या एक्सटेंशन कॉर्ड पर प्लग करके चार्ज करना
अपने फोन को पावर स्ट्रिप या एक्सटेंशन कॉर्ड पर प्लग करके चार्ज बिल्कुल न करें. इससे शॉर्ट सर्किट होने का खतरा होता है.

लोकल रिपेयर शॉप से फोन ठीक कराना
अपने फोन को सर्विस सेंटर में ही ठीक कराएं. इससे आपका फोन सही हाथों में होता है. लोकल रिपेयर शॉप वालों के पास वो टूल्स नहीं होते. जिससे फोन ठीक किया जा सके. इससे आपके फोन के अंदर सर्किट उलझ सकती हैं.