महिला पुलिसवाली के चक्कर में दृश्यम की तरह मार डाला खुद का परिवार, 3 साल बाद ऐसे हुआ खुलासा

ग्रेटर नोएडा। यूपी पुलिस की महिला पुलिसकर्मी के प्यार में पागल बिसरख थाना क्षेत्र के चिपियाना में एक व्यक्ति ने पत्नी व दो छोटे-छोटे बच्चों को मौत के घाट दिया। हत्या करने के बाद आरोपित ने शवों को घर के अंदर बेसमेंट में दफना दिया। किसी को पता न चले इसलिए इसके ऊपर से सीमेंट की दीवार बनवा दिया। हत्या का राज 3 साल बाद खुला। आरोपित ने 2018 में पत्नी व बच्चों की हत्या की थी। उसने खुद की भी मौत का स्वांग रचा था। कासगंज की ढोलना पुलिस ने मामले का पर्दाफाश किया है।

आरोपित राकेश को लेकर कासगंज पुलिस ग्रेटर नोएडा वेस्ट पहुंच गई है। वारदात स्थल की खुदाई का काम शुरू कर दिया गया है ताकि कंकाल को निकाला जा सके। फिलहाल महिला पुलिसकर्मी से भी पूछताछ हो रही है। आरोपित राकेश का पिता बनवारीलाल भी इस वारदात में शामिल है। बनवारीलाल पुलिस से रिटायर्ड है।

बताया जा रहा है कि आरोपित राकेश की शादी 2012 में एटा की रहने वाली महिला रत्नेश से हुई थी। राकेश उससे शादी नही करना चाहता था लेकिन परिवार के दवाब में आकर रत्नेश से शादी करनी पड़ी। राकेश का प्रेम प्रसंग गांव की रहने वाली रुबी से चल रहा था। वह यूपी पुलिस में कांस्टेबल है। रूबी की पुलिस में भर्ती 2015 में हुई थी। वह राकेश पर शादी का दवाब बनाने लगी तो वह 14 फरवरी 2018 को पत्नी व दो बच्चों को मार डाला। बेटी अवनि की उम्र दो और बेटा अर्पित की उम्र तीन साल थी। आरोप है कि वारदात में उसके पिता बनवारीलाल, मां इंद्रवती, भाई राजीव और प्रवेश शामिल थे। आरोपित चिपियाना बुजुर्ग गांव के पंचविहार कालोनी में रहता था।

ऐसे खुला राज

दरअसल आरोपित ने 25 अप्रैल 2021 को अपने दोस्त का मर्डर कर दिया था। उसके शव के पास अपना आधार कार्ड और एलआईसी का पेपर रख दिया। ताकि पुलिस को यह पता चले कि खुद उसकी हत्या हुई है। वारदात को अंजाम देकर आरोपित पहचान छिपाकर कहीं रहने लगा था। जांच के बाद जब इसकी गिरफ्तारी हुई तो उसने पत्नी और दो बच्चों की हत्या का भी राज उगल दिया।