महिलाओं ने बयां की यौन शोषण की खौफनाक दास्तां, ‘थाना-जेल, अस्पताल हर जगह होता है रेप’

महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों को लेकर दुनियाभर में समय-समय पर बहस होती रहती है. तमाम देश अपने-अपने यहां महिलाओं की सुरक्षा के दावे करते हैं और कड़े कानून बनाते हैं लेकिन आज के दौर में भी जिन लोगों के पास महिलाओं की रक्षा करने की जिम्मेदारी है वही अगर महिलाओं के लिए खतरा बन जाएं तो क्या होगा? इजिप्ट में कुछ ऐसा ही हाल है. पहली बार सार्वजनिक तौर पर महिलाओं ने अपनी पीड़ा जाहिर की है. महिलाओं ने बताया है कि इजिप्ट में महिलाओं का यौन शोषण कैसे आम हो गया है.

सरकारी अधिकारियों ने हर बार किया शोषण
इजिप्ट में महिलाओं ने सड़कों पर उतर कर कहा है, जब भी उन्होंने मुखरता से अपनी बात रखने की कोशिश की या शिकायत दर्ज करने की कोशिश की तो उल्टा उन्हें गिरफ्तार किया गया. जब-जब किसी अपराध की रिपोर्ट करने के लिए अधिकारियों के पास गईं तो हर बार उनकी रक्षा करने की शपथ लेने वाले अधिकारियों द्वारा उनका यौन शोषण किया गया.

आवाज उठाने से डरती हैं महिलाएं
सिविल सोसाइटी के सदस्यों, विशेषज्ञों, वकीलों का कहना है कि ऐसे मामलों के पर्याप्त सबूत हैं.
न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक दर्जन ऐसी महिलाएं मिलीं जिन्होंने इसी तरह के अनुभवों को बताया. ज्यादातर महिलाएं ने बिना पहचान उजागर किए अपने साथ हुए अन्याय के बारे में बताने को तैयार हुईं. महिलाओं को गिरफ्तारी और अपने परिवारों की बदनामी को लेकर चिंता है.

थानों और अस्पतालों में भी शोषण
इजिप्ट में महिलाओं के सामने बड़ा संकट है, चाहे अपराधों की शिकार हो, किसी केस में गवाह हो या आरोपी, चाहे उसे कोर्ट जाना हो, हर बार उनको शारीरिक शोषण होने का खतरा रहता है. पहली बार सार्वजनिक रूप से बोलते हुए इन महिलाओं ने यौन उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाई. महिलाओं ने कहा है कि पुलिस थानों, जेलों और अस्पतालों तक में उनका शोषण किया जाता है.

तलाशी और वर्जिनिटी टेस्ट के नाम पर शोषण
इनमें से कुछ घटनाएं पुलिस या जेल अधिकारियों द्वारा रुटीन तलाशी के दौरान हुईं. सरकारी डॉक्टरों द्वारा तथाकथित वर्जिनिटी टेस्ट के नाम पर शारीरिक शोषण किया जाता है. हालांकि इन घटनाओं की संख्या पर कोई सार्वजनिक डेटा नहीं है क्योंकि इजिप्ट में महिलाएं ऐसे मामलों की शिकात ही नहीं कर सकतीं.

सरकारी डॉक्टर और अधिकारियों ने किया ऐसा सलूक
लंबे समय तक काम करने वाले एक एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि कानूनी अधिकारियों द्वारा महिलाओं का यौन शोषण ‘हर जगह’ होता है. नाम न छापने की शर्त पर उसने कहा, एक 29 वर्षीय महिला को मामूली अफराध में गिरफ्तार किया गया था पुलिस हिरासत में एक कॉन्स्टेबल ने उसे कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया, इसके बाद उसका शारीरिक शोषण किया. दूसरे केस में एक सरकारी अस्पताल में एक पुरुष डॉक्टर ने अधिकारियों के एक ग्रुप के सामने महिला के कपड़े उतरवा दिए. इतना ही नहीं एक डॉक्टर ने वर्जिनिटी टेस्ट के नाम पर महिला के साथ बेहद बर्बर सलूक किया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.