पिता बनने की चाहत में बना हैवान, बच्ची की आंख निकालकर पत्नी को पहनाया ताबीज

मुंगेर: बिहार के मुंगेर से हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक 8 साल की बच्ची का क्षत विक्षत शव बरामद होने के बाद, पुलिस ने जो खुलासा किया है उसे जान आपके होश उड़ जाएंगे. पुलिस ने दावा किया कि अंधविश्वास में बच्ची की हत्या की गई और उसकी आंख निकालकर ताबीज बनाया गया.

पांचवें बच्चे की चाहत में हैवानियत
मामला मुंगेर जिला के सफियाबाद थाना क्षेत्र का है. पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है. मुंगेर के एसपी जे.जे रेड्डी ने जो बताया वो बताया वो दिल दहला देने वाला है. एसपी के मुताबिक रामनगर के पदम गांव के रहने वाले दिलीप कुमार ने पांचवें बच्चे की ख्वाहिश में ऐसी क्रूर वारदात को अंजाम दिया.

दोस्त ने दी ये सलाह
पुलिस के मुताबिक दिलीप की पत्नी का गर्भपात हो गया था. इस बार दिलीप किसी भी हाल में पत्नी का गर्भपात नहीं चाहता था. उसने अपनी पीड़ा अपने दोस्त दशरथ और तनवीर को बताई. तनवीर ने खगड़िया के मधुरा गांव निवासी और ओझा-गुणी का काम करने वाले परवेज आलम से दिलीप को संपर्क करवाया. परवेज ने गर्भपात से बचने के लिए एक बच्ची की आंख से बना ताबीज पत्नी को पहनाने की सलाह दी.

8 वर्षीय बच्ची की बेरहमी से हत्या
बुधवार को सफियाबाद थाना क्षेत्र में एक आठ वर्षीय बच्ची जब गंगा तट से अपने पिता के पास से वापस अपने घर लौट रही थी तभी आरोप है कि दिलीप, दशरथ और तनवीर बच्ची को अपने साथ ले गए और उसकी बेरहमी से हत्या कर उसकी एक आंख निकाल ली और उसे खगड़िया ले गए.

पत्नी को पहनाया बच्ची की आंख का ताबीज
आंख को जलाकर उसके राख से ताबिज बनाया गया जिसे दिलीप की पत्नी को पहनाया गया. रेड्डी ने बताया कि इस मामले में ओझा गुणी का काम करने वाले परवेज सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

हाथ की अंगुलियों को भी बुरी तरह जख्मी किया
पुलिस के मुताबिक गुरुवार की सुबह सफियाबाद थाना क्षेत्र से एक बच्ची का क्षत विक्षत शव गांव के ही पास एक ईंट भट्ठे के पास सुनसान जगह पर पेड़ के नीचे से बरामद किया गया था. दायीं आंख निकली हुई थी और बाईं आंख को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था. हाथ की अंगुलियों को भी बुरी तरह जख्मी कर दिया गया था. परिजन रेप के बाद हत्या की आशंका जता रहे थे, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई थी.