नई दुल्हन के कपड़े फाड़ ले गए सास-ससुर के सामने, प्राइवेट पार्ट में डाली मिर्ची, फिर जंगल में…

भीलवाड़ा. राजस्थान के भीलवाड़ा से दहेज उत्पीड़न का बेहद ही सनसनीखेज मामला सामने आया है जहां एक 19 वर्षीय महिला की मौत हो गई. चौंकाने वाली बात ये है कि इस महिला की करीब ढाई महीने पहले ही शादी हुई थी. शनिवार को कोटा के एमबीएस अस्पताल में 19 वर्षीय प्रिया ने दम तोड़ दिया. हालांकि मौत से पहले प्रिया ने वीडियो बनाया और अपने साथ हुई ज्यादती बयां की. उसने वीडियो में ससुराल वालों द्वारा किए गए एकएक सितम का चिठ्‌ठा खोल दिया.

प्रिया के दो वीडियो हैं जिसमें उसने अपने साथ हुई ज्यादती की इंतहा बयां की है. आरोप है कि जंगल में ले जाकर उसको पहले उसके कपड़े उतारे गए. फिर उसके प्राइवेट पार्ट में मिर्च डालने का प्रयास किया गया. लेकिन किसी तरह वह वहां से भाग निकली.

बता दें कि प्रिया के पिता भेरूलाल भीलवाड़ा पुलिस लाइन Bhilwara Police Line में हेड कांस्टेबल हैं. उन्होंने बेटी की मौत से पहले एक वीडियो बनाया. फिर अस्पताल में भी परिजनों से बातचीत का वीडियो बनाया गया. दोनों वीडियो में प्रिया ने आरोप लगाया कि सासससुर के सामने उसके पूरे कपड़े फाड़ दिए गए. जहर खिलाया गया.

प्रिया की ढाई महीने पहले जहाजपुर कस्बे के पंडेर गांव के विक्रम से उसकी शादी हुई थी. इसी साल 26 अप्रैल को उसकी शादी की थी. शादी में 4 तोला सोना, टीवी, फ्रिज, डबल बेड सहित घरेलू सामान दिया था.

प्रिया के पिता भेरूलाल ने आरोप लगाया है कि बेटी के पति, सास, ससुर, जेठ, जेठानी सहित ससुराल पक्ष के लोग दहेज की मांग को लेकर उसके साथ मारपीट करते थे. उन्होंने अपनी बेटी को जहर देकर हत्या करने का आरोप लगाया है.

पिता भेरूलाल ने बताया कि 5 लड़कियां और 2 लड़कों में प्रिया छठे नम्बर की थी. शादी के 57 दिन बाद ही ससुराल वालों ने प्रिया से मारपीट करना शुरू कर दिया था. 6 लाख की डिमांड रखी थी. पिता ने ससुराल वालों पर आरोप लगाते हुआ कहा कि बेटी के साथ मारपीट करने की शिकायत बागोर थाना में दर्ज कराई थी लेकिन उसके बाद भी ससुराल वाले प्रिया से मारपीट करते रहे.

हालांकि वहीं दूसरी तरफ पुलिस इसे आत्महत्या करार दे रही है. प्रिया ने अपना वीडियो वायरल करते हुए ससुराल पक्ष के लोगों पर बुरी तरह से मारपीट करने का आरोप लगाया. इसके साथ ही प्रिया ने बताया कि मारपीट करने के बाद उसके सारे कपड़े फाड़ कर उसे ससुर के सामने लाया गया. इससे वह काफी आहत हुई.

मारपीट से परेशान होकर प्रिया मायके बागोर आ गई थीं. 18 जुलाई को वह अपने पति की बातों में आकर वापस ससुराल चली गई. 19 जुलाई से प्रिया के साथ मारपीट शुरू कर दी गई. इसके बाद प्रिया ने पंडेर थाने में शिकायत दी थी. राजीनामे के बाद प्रिया ससुराल चली गई थी.

प्रिया के पिता ने आरोप लगाया कि बेटी को 22 जुलाई को जंगल में ले जाया गया. वहां अमानवीय हरकतें कीं. प्रिया ने जैसेतैसे भागकर जान बचाई. फोन करके उसने सारी बात बताई. थोड़ी देर बाद किसी व्यक्ति ने फोन करके सूचना दी कि आपकी बेटी ने जहर खा लिया. इसे इलाज के लिए भीलवाड़ा ले जाया जा रहा है.

ससुराल वाले प्रिया को भीलवाड़ा ले जाने के बजाय कोटा एमबीएस में भर्ती कराकर चले गए. एक दिन तक बेटी अस्पताल में अकेली रही, जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.