जन्मदिन पर पत्नी को गिफ्ट की गई कार में ही भरकर ठिकाने लगाने ले गया शव

नई दिल्ली: अपराध शाखा ने पीआई अजय देसाई को कथित तौर पर अपनी पत्नी के कोल्ड ब्लडेड मर्डर करने और उसके शरीर को आग लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। चौंकाने वाली बात यह है कि पीआई अजय ने स्वीटी के बर्थडे पर गिफ्ट के तौर पर जो कार दी थी, उसी कार में रखकर वो स्वीटी के शव को फेंकने के लिए लेकर गया। हालांकि स्वीटी को गिफ्ट में दी गयी गाड़ी किसी और के नाम पर होनी की जानकारी सामने आने के साथ ही क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने कार की भी जांच शुरू कर दी है। क्राइम ब्रांच के अधिकारी 26 तारीख को आरोपी पीआई अजय देसाई और किरीट सिंह जडेजा को वडोदरा कोर्ट में पेश कर रिमांड मांगेंगे।

आपको बता दें कि पुलिस की जांच में पता चला है कि दोनों पत्नियां के गर्भवती होने से घर पर इस बात पर बहस कर रही थीं कि किसको बचाना है। जिसके बाद पीआई अजय देसाई ने मॉडल स्वीटी को मारने का मन बना लिया था। क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने अलग-अलग टीमों का गठन किया और पीआई अजय देसाई, उनके दोस्त किरीट सिंह जडेजा और मृतक स्वीटी पटेल की मोबाइल चैटिंग के साथ साथ दहेज के अटाली और उसके आसपास के सीसीटीवी फुटेज सहित सबूत एकत्र किए। पीआई अजय देसाई से लगातार आठ घंटे पूछताछ की गई और एक के बाद एक सबूत उनके सामने रखे गए। इसके बाद पीआई अजय देसाई टूट पड़े। किरीट सिंह ने पुलिस को बताया कि अजय ने उसे कुंवारी बहन के गर्भवती होनी की बात बताकर हत्याकांड में शामिल किया था।

जांच में सामने आया है कि वडोदरा पुलिस को होटल के पिछले हिस्से में हड्डियाँ मिलीं। उस समय, सूरत पुलिस के दवार जांच करने पर वह मानव हड्डियाँ निकली। हालाँकि, वडोदरा पुलिस ने कोई गहन जाँच नहीं की। एफएसएल ने भी मानव को मारकर हत्या करने की जानकारी सामने आई।

आपको बता दें कि आरोपी पीआई देसाई की शादी 2014 में स्वीटी पटेल से मंदिर में हुई थी। बाद में 2012 में अजय ने पायल नाम की एक और लड़की से शादी कर ली। जब स्वीटी सो रही थी तब अजय ने स्वीटी का गला घोंट दिया। फिर उसने स्वीटी के शरीर को ठिकाने लगाने के लिए घी-चीनी और ज्वलनशील पदार्थ मंगाकर होटल के पीछे शव को आग लगा दिया। स्वीटी के शव को जलने में करीब डेढ़ घंटे का समय लगा। अजय वहां अपने मोबाइल में लाइव लोकेशन लेकर बैठे थे। जबकि किरीट सिंह जडेजा होटल के सामने देख रहा था।

अपने जांच के दौरान क्राइम ब्रांच ने अहम सबूत जुटाकर वारदात को सुलझाया। क्राइम ब्रांच ने जब सीसीटीवी की जांच की तो उसमें में 4-6-2021 को घर में जाने के बाद बाहर नहीं आने और फिर 7-6-2021 को गुमशुदगी की सूचना मिलने की बात पता चली। 6 तारीख को, उसने अपने दोस्त को फोन किया और उसे अपना घर बदलने के लिए कहा। साथ ही अजय के मोबाइल से चैटिंग समेत डिलीट किया गया डाटा मिलने से मामले में मदद मिली।स्वीटी के मोबाइल वॉट्सऐप समेत डेटा वेरिफिकेशन का काम चल रहा है।

जानकारी के लिए बता दें कि मॉडल स्वीटी पटेल ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले अपने पहले पति और बच्चों से बात करती थीं। वह अजय देसाई से तंग आ चुकी थी और ऑस्ट्रेलिया में बच्चों से मिलने जा रही थी। अजय ने ऑस्ट्रेलिया जाने की हामी भरकर स्वीटी को खुश किया था। लेकिन अचानक स्वीटी ने ऑस्ट्रेलिया जाने से इनकार कर दिया और अजय की दूसरी पत्नी को लेकर उनका लगातार झगड़ा होता रहा। एक समय जब अजय के लिए सब सीमा से बाहर हो गया तो उसने अपनी मॉडल पत्नी की हत्या कर दी।