ऑनलाइन सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, कार से होटलों और घरों पर होती थी लड़कियों की सप्लाई

नोएडा। एंटी हयूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) ने ऑनलाइन बुकिंग कर देह व्यापार कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर एक आरोपी को सेक्टर-53 से गिरफ्तार किया है। साथ ही, चार लड़कियों को बरामद किया है। आरोपी ऑन डिमांड लड़कियों को देह व्यापार के लिए भेजते थे। पुलिस ने आरोपी से कार सहित अन्य सामान बरामद किया है।

एसीपी रजनीश वर्मा के नेतृत्व में मंगलवार रात को एएचटीयू की टीम और पुलिस ने सेक्टर-53 के होटल के सामने से देह व्यापार कराने वाले गिरोह के आरोपी को गिरफ्तार किया। उसको पकड़ने के लिए पुलिस खुद ग्राहक बनकर पहुंची थी।

पुलिस पूछताछ में आरोपी की पहचान सेक्टर-71 निवासी सलमान के रूप में हुई। वह मूलरूप से ओरैया के गांव दलीपपुर का रहने वाला है। पुलिस ने आरोपी से एक कार, दो मोबाइल और 500 रुपये बरामद किए हैं। इस मामले में एक आरोपी वांछित है। पुलिस उसकी तलाश में छापेमारी कर रही है।

ग्राहक से पांच से लेकर 20 हजार रुपये लेते थे
पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह इंटरनेट और व्हाट्सएप के जरिये लोगों से बात करता था। व्हाट्सएप पर ही युवतियों के फोटो ग्राहकों को भेजता था। फिर सारी बात होने पर आरोपी अपनी कार से लड़की को उसके घर या होटल के कमरों तक पहुंचाता था। इसके एवज में आरोपी एक ग्राहक से पांच से 20 हजार रुपये वसूलता था। इस रकम का 40 प्रतिशत लड़कियों को दिया जाता था। बाकी रकम सलमान और उसका साथी अपने पास रख लेते थे। आरोपी नौकरीपेशा व बिजनेस करने वाले लोगों से संपर्क करता था। आरोपी सलमान के खिलाफ पूर्व में भी थानों में 10 केस दर्ज हैं।

एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि आरोपी अपने ग्राहकों को ऑन डिमांड लड़कियां मुहैया कराते थे। जहां भी ग्राहक लड़कियां बुलाता था, वहां पर ही अपनी कार से छोड़ने जाते थे। कई बार कैब से भी लड़कियों को भेजा जाता था। पुलिस ने आरोपियों के पास से पश्चिम बंगाल की दो, गाजियाबाद व दिल्ली की एक-एक लड़की बरामद की है। इनसे जबरन देह व्यापार कराया जा रहा था। पुलिस ने चारों को वन स्टॉप सेंटर भेज दिया है। पुलिस आरोपियों के गिरोह में शामिल अन्य लड़कियों को भी छुड़ाने का प्रयास कर रही है। इसके चलते आरोपियों के दिल्ली के ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।