इमरान ख़ान की सरकार कश्मीर पर क्या इतना बड़ा यू-टर्न लेने जा रही है?

नई दिल्ली। पाकिस्तान की इस राष्ट्रीय सुरक्षा नीति में भारत से शांति की बात ज़ोर देकर कही गई है. पाकिस्तानी मीडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़ पाकिस्तान ने अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा नीति में आर्थिक सुरक्षा को सबसे ज़्यादा अहमियत दी है.

पाकिस्तान के अहम अंग्रेज़ी अख़बार एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान ने 2022 से 2026 तक की अवधि के लिए पॉलिसी डॉक्युमेंट तैयार किया है.

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, इस डॉक्युमेंट में कश्मीर के बिना फ़ाइनल समाधान, भारत से द्विपक्षीय व्यापार और निवेश बढ़ाने की बात कही गई है. पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, इस डॉक्युमेंट की कुछ चीज़ें ही बाहर आई हैं जबकि मुख्य दस्तावेज़ को सार्वजनिक नहीं किया गया है.

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, पत्रकारों से सरकार के एक अधिकारी ने पॉलिसी डॉक्युमेंट के बारे में कहा कि यह 100 पन्नों का है. उस अधिकारी ने कहा, ”हम अगले 100 सालों तक भारत से दुश्मनी नहीं चाहते हैं. नई नीति में भारत के साथ शांति की बात कही गई है. भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार शुरू करने की वकालत की गई है.”