आपका शरीर भी दे रहा ऐसे संकेत तो हो जाये सावधान, हो सकती है ये गंभीर बीमारी

नई दिल्ली: आज की भागादौड़ भरी जिंदगी में स्वस्थ्य शरीर यानी सेहत का दुरुस्त रहना बेहद जरूरी है. मानव शरीर (Human Body) में मौजूद दिमाग शारीरिक स्थिति को लेकर लगातार संकेत भेजता है. कई बार समय रहते उनका ध्यान रखने से मुसीबत टल जाती है. वहीं कभी कभार उनकी अनदेखी भारी पड़ जाती है. यहां बात ऐसे कुछ संकेतों की जिन्हें ध्यान में रखना बेहद जरूरी है.

संतुलित लाइफस्टाइल जरूरी
अच्छी हेल्थ के लिए प्रॉपर डाइट, योग-व्यायाम के साथ सहीं नींद लेना बेहद जरूरी है. इस बीच कुछ स्टडी के मुताबिक ये पता चला है कि पुरुष अपनी स्वास्थ्य समस्याओं (Men’s Health Problem) को नजरअंदाज करते हैं या डॉक्टर के पास जाने में हिचकिचाते हैं. अक्सर इसकी वजह उनकी वो सोच होती है कि वो पहले से फिट और हेल्दी है. ऐसे में संतुलिन लाइफ स्टाइल के बावजूद आपको ऐसे कुछ लक्षण हों तो फौरन आपको किसी डॉक्टर से सलाह लेकर अपनी शारिरिक जांच करानी चाहिए.

बार-बार प्यास लगना

हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि हमें रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिए. गर्मियों के दिनों में बार-बार प्यास लगना और ज्यादा पानी पीना अलग बात है. लेकिन अगर आपको हर समय ऐसा महसूस होता है तो ये हाइपरग्लेसेमिया (Hyperglycemia) हो सकता है. जो किसी इंसान के डायबिटीज से पीड़ित होने का संकेत देता है. आपके पैरेंट्स में अगर किसी को डायबिटीज हो तो बिना समय गंवाए आपको अपनी ब्लड शुगर की जांच कराके डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए.

नपुंसकता
इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile Dysfunction ) पुरुषों को होने वाली एक आम समस्या है जिसका सामना पुरुषों को बढ़ती उम्र के साथ करना पड़ता है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, यौन क्षमता का प्रभावित होना भी कुछ अन्य खतरों का संकेत हो सकता है. इस दायरे में किडनी का सही से काम न करना, तंत्रिका संबंधी विकार भी हो सकता है. हालांकि शराब के ज्यादा सेवन से पुरुषों की ये क्षमता प्रभावित होती है.

मेमोरी लॉस

मेमोरी लॉस यानी लोगों, चीजों और बातों को बार-बार असामान्य तरीके से भूल जाने की आदत का पता चलते ही अलर्ट हो जाना चाहिए. उम्र के बढ़ने के साथ खासकर 60 साल के बाद ऐसा होना आम बात है. अगर 30 साल से ऊपर के किसी शख्स को मेमोरी लॉस की शिकायत होती है तो ये स्ट्रोक, अल्जाइमर या शराब के ज्यादा सेवन का साइड इफेक्ट हो सकता है. शरीर में कुछ पोषक तत्वों की कमी को भी इसकी वजह माना जा सकता है, जिसमें विटामिन बी 12 की कमी भी शामिल है.

यूरिन पास करने में दिक्कत
अगर आपको बार-बार यूरिन पास करने के लिए वाशरूम जाना पड़ता हो. यूरिन पास करने के दौरान प्राइवेट पार्ट में जलन हो या फिर यूरिन के रंग में कोई बदलाव दिखे तो ये भी शरीर द्वारा भेजा गया एक अलर्ट हो सकता है. यूरिन में ब्लड का आना किसी संक्रमण रोग की वजह हो सकता है. कुछ मामलों ये प्रोस्टेट कैंसर या गुर्दे की पथरी के शुरुआती लक्षण हो सकते हैं. बार-बार यूरिन महसूस होना डायबिटीज या आपकी किडनी या हार्ट में कुछ गड़बड़ होने का संकेत हो सकता है.

प्राइवेट पार्ट्स में असामान्य तिल या गांठ होना
भारत ऐसे देश में प्राइवेट पार्ट से संबंधित बीमारियों पर चर्चा करना आज भी टैबू माना जाता है. यानी आज भी लोग अक्सर इनके बारे में चर्चा करने में खुद को असहज महसूस करते हैं. ऐसे में अगर आपको भी अपने प्राइवेट पार्ट्स के आसपास किसी भी गांठ या तिल दिखाई दे तो उसकी जांच करना भी महत्वपूर्ण है, जो कैंसर का कारण बन सकता है. इसी तरह किसी भी तिल या त्वचा की बनावट में बदलाव, गांठ या शरीर के ऐसे किसी हिस्से में आई सूजन को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.