अभी-अभी: भीषण हादसे से दहला बिहार, हाईटेंशन तार की चपेट में आने से 25 झुलसे

पटना: बिहार में बड़ा हादसा, गंगा के मझधार में हाईटेंशन तार से टकराई पतवार, करंट से 25 झुलसे, कई लोगों ने नाव से कूदकर बचाई जान
बिहार की राजधानी पटना से सटे फतुहा में नदी थाने के कच्ची दरगाह के पास शनिवार की रात करीब साढ़े नौ बजे बड़ा हादसा हुआ। गंगा के मझधार में ऊपर से गुजरी रही हाईटेंशन तार से पतवार टकरा गई। इसके चलते नाव में करंट दौड़ने से राघोपुर जफराबाद के करीब 25 लोग झुलस गए जबकि कई लोगों ने नाव से कूद कर अपनी जान बचाई। झुलसे लोगों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। हादसे में कुछ लोगों के लापता होने की भी बात कही जा रही है, जबकि पुलिस प्रशासन का दावा है कि नाव में सवार सभी लोग सुरक्षित हैं। राहत बचाव टीम के साथ गंगा में रेस्क्यू शुरू कर दिया गया है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक रात करीब साढ़े नौ बजे एक नाव कच्ची दरगाह से वैशाली के रुस्तमपुर राघोपुर के लिए खुली। उस नाव पर करीब पचास से अधिक लोग सवार थे। गंगा के ऊपर से हाईटेंशन लाइन गुजरी है। गंगा में ऊफान के चलते हाईटेंशन लाइन की ऊंचाई बेहद कम हो गई है। नाव जैसे ही वैशाली सीमा के मझधार में पहुंची, अंधेरा होने के कारण नाविक को पता नहीं चला और नाव की पतवार ऊपर से गुजर रही हाईटेंशन तार से टकरा गई।

पतवार में करंट आने के बाद नाव में सवार करीब 25 लोग भी करंट की चपेट में आकर झुलस गए जबकि कईयों ने गंगा में छलांग लगा दी। हादसे की सूचना मिलते स्थानीय लोगों ने दूसरी नाव से लोगों को मदद पहुंचानी शुरू की। गंगा में कूदे लोगों और करंट से घायल लोगों को किनारे लाकर घायलों को विभिन्न निजी नर्सिंग होम में इलाज के लिए भर्ती कराया।

24 घंटे में नए इलाकों में फैला पानी, चपेट में आई साढ़े तीन लाख आबादी
घटना की जानकारी मिलते ही डीएसपी फतुहा राजेश मांझी, एसडीएम मुकेश रंजन व नदी थानाध्यक्ष धर्मेंद्र प्रसाद सदलबल मौके पर पहुंच गए। डीएसपी राजेश मांझी ने बताया कि वरीय अधिकारियों को सूचना देकर एम्बुलेंस और अतिरिक्त मेडिकल टीम को बुलाया गया है। 20-25 लोगों के घायल होने की सूचना मिली है। लोग अपने-अपने स्तर से अपने लोगों का इलाज करा रहे हैं। वहीं कुछ लोगों को पीएमसीएच भी भेजा गया है।