मुंबई में चलेंगी 350 ट्रेनें, ट्रेनों में केवल इन्हे सफर करने की इजाजत

मुंबई: कोरोना महामारी के बीच लॉकडाउन में छूट के दूसरे चरण में बुधवार से मुंबई में 350 लोकल ट्रेनें चलेंगी। हालांकि, इस दौरान केवल सरकारी कर्मचारियों को इन ट्रेनों में यात्रा करने की अनुमति दी गई है। रेलवे का कहना है कि ये सेवाएं आम लोगों के लिए नहीं होंगी। रेल मंत्रालय ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार, केंद्र, आईटी, जीएसटी, सीमा शुल्क, डाक, राष्ट्रीयकृत बैंक, एमबीपीटी, न्यायपालिका, रक्षा और राजभवन के कर्मचारियों सहित केवल आवश्यक कर्मचारियों को यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी।

समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, रेल मंत्रालय ने यह भी घोषणा की है कि लोकल ट्रेन चलाने के दौरान आम यात्रियों के लिए अभी तक कोई सेवा शुरू नहीं की गई है। केवल आवश्यक श्रेणी के यात्री इस अवधि के दौरान यात्रा कर पाएंगे। बता दें कि मुंबई की लाइफलाइन कहे जाने वाली लोकल ट्रेन सेवा पिछले 3 महीने से बंद होने के बाद 16 जून को किसी सेवा से शुरू हुई थी।

बता दें कि मुंबई उपनगरीय रेल मार्ग पर आवश्यक सेवाओं के लिए 362 स्थानीय सेवाओं का संचालन किया जा रहा है। इन स्थानीय सेवाओं में लगभग 1.25 लाख कर्मचारी दैनिक यात्रा करेंगे। रेलवे का अनुमान है कि 1.25 मिलियन में से 50 हजार कर्मचारी पश्चिम रेलवे में यात्रा करेंगे। मध्य रेलवे ने स्पष्ट रूप से कहा है कि ये स्थानीय सेवाएं केवल उन लोगों के लिए संचालित की जा रही हैं जिन्हें राज्य सरकार ने आवश्यक सेवाओं के लिए पहचाना है।

स्टेशन के बाहर सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी
स्टेशन के बाहर कोई भी भीड़ नहीं होनी चाहिए और जिन लोगों को जाने की अनुमति नहीं है, उन्हें आंदोलन के दौरान भीड़ के माध्यम से स्टेशन के अंदर नहीं आना चाहिए, इसके लिए न तो पार्किंग और न ही विक्रेताओं को अनुमति दी जाएगी। स्टेशन पर आने वाले मार्गों पर भी इसका ध्यान रखा जाएगा। इमरजेंसी में तैयार होने वाले मेडिकल स्टाफ के साथ हर स्टेशन पर एंबुलेंस तैनात रहेगी। रेलवे ने लोगों से COVID-19 के लिए जारी किए गए चिकित्सा और सामाजिक नियमों का पालन करने और किसी भी अफवाहों पर भरोसा न करने की अपील की है।

loading…