लॉकडाउन के चलते पोर्न फिल्में देखने के मामले में भारत बना नम्बर 1 देश

porn vedio

जयपुर: जैसे-जैसे देश में स्मार्टफोन की पैठ बढ़ रही है ठीक उसी प्रकार से पोर्न देखने वालों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। दरअसल एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि भारत में 2019 में 89 प्रतिशत लोगों ने मोबाइल डिवाइस के जरिए से पोर्न फिल्में देखीं।89 प्रतिशत के साथ ही यह भी बताया गया कि साल 2019 में स्मार्टफोन पर पोर्न देखने के मामले में भारत दुनिया का पहला देश बन गया है। जबकि दूसरे नंबर पर अमेरिका और तीसरे पर ब्राजील शामिल है। अडल्ट एंटरटेनमेंट साइट पॉर्नहब के अनुसार, दुनिया में 4 में से 3 लोग लोग मोबाइल पर पोर्न देखते हैं इसका मतलब साफ़ हैं की लोग डेस्कटॉप, लैपटॉप या CDs पर पोर्न देखना बिलकुल कम कर दिया हैं ।

सेक्स में संतुष्टि नहीं मिलती है, तो अपनाएं इस खास तरीके को…

पॉर्नहब की ‘इयर इन रिव्यू’ रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि साल 2013 में पॉर्नहब के कुल ट्रैफिक में मोबाइल ट्रैफिक की हिस्सेदारी सिर्फ 40 पर्सेंट थी। मोबाइल पर पोर्न देखने में बढ़ोतरी का कारण सस्ता डेटा हैं। मोबाइल पर पॉर्न देखने के मामले में अमेरिका 81 पर्सेंट के साथ दूसरे नंबर पर और 79 पर्सेंट के साथ ब्राजील तीसरे नंबर पर है।

रात्रि के इस पहर में ना बनाये शारारिक संबंध…जान ले वरना

वहीं, जापान में 70 पर्सेंट लोग मोबाइल से पॉर्नहब पर पहुंचे, जबकि यूके में 74 पर्सेंट लोगों ने मोबाइल पर पॉर्न देखा। टेलिकॉम इक्विपमेंट बनाने वाली स्पीडन की कंपनी एरिक्सन के मुताबिक, दुनिया भर में भारत में प्रति स्मार्टफोन डेटा खपत सबसे ज्यादा है।

सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करना मुझे अच्छा नहीं लगता, क्या करना चाहिए?

यहां एक स्मार्टफोन पर औसतन 9.8 जीबी डेटा प्रति माह खर्च हो रहा है। यह 2024 तक करीब दोगुना होकर 18जीबी हो जाएगा। देश में चल रहे डिजिटल ट्रांसफर्मेशन के चलते उम्मीद है कि 2021 तक भारत का कुल इंटरनेट यूजर बेस बढ़कर 829 मिलियन हो जाएगा।

loading…