मौलाना का शर्मनाक बयान- महिलाओं के कारण दुनिया झेल रही कोरोना का कहर

नई दिल्ली: पाकिस्तान के एक प्रसिद्ध मौलवी ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी मानवता पर “महिलाओं के गलत काम” के कारण फैल गई है। बता दें कि उन्होंने लाइव टीवी पर प्रधानमंत्री इमरान खान की उपस्थिति में ये टिप्पणी की। पड़ोसी मुल्क के इस मौलाना ने कहा कि कोरोना वायरस अश्लीलता और नग्नता बढ़ने की वजह से अल्लाह के गुस्से का नतीजा है। मौलाना तारिक जमिल ने एक राष्ट्रीय टेलीविजन पर इमरान खान से ये बातें कहीं। यह कार्यक्रम 23 अप्रैल को कोरोना प्रभावित लोगों के लिए फंड जुटाने के लिए आयोजित किया गया था। पाकिस्तान में मौलाना जमिल का बड़ी संख्या में लोग अनुसरण करते हैं। मौलाना ने कहा, ”अश्लीलता और नग्नता अल्लाह के गुस्से की वजह है और यह कोरोना वायरस के रूप में आया है।”

लॉकडाउन के बीच UP से भेजी गईं 214 करोड़ की सब्जियां इंग्लैंड

मौलाना ने पूछा, ”हमारे मुल्क की बेटियों को कौन नचा रहा है। उनके कपड़े छोटे होते जा रहे हैं। समाज में जब बेहयायी बढ़ जाती है तो अल्लाह अपना कोप भेजता है।” मौलाना कहते हैं कि यदि सभी लोग झूठ बोलना छोड़ दें, धोखा देना और अश्लीलता छोड़ दें तो कोरोना वायरस भाग जाएगा। वह अल्लाह से मदद मांगते हुए कहते हैं कि इसे हम वेंटिलेटर, वैक्सीन, दवा से नहीं रोक सकते हैं। लॉकडाउन से भी यह बीमारी नहीं जाएगी। इस दौरान मौलाना फूट-फूटकर रोने लगते हैं।

UP: मंदिर में धारदार हथियार से 2 साधुओं की हत्या, फैली सनसनी

पाकिस्तान में बहुत से लोगों ने मौलाना के बयानों की निंदा की है। मुस्लिम बहुल देश के कुछ लोगों ने इसे महिलाओं का अपमान बताया है। कानून और न्याय की संसदीय सचिव मलीना बुखारी ने ट्वीट किया, ”महामारी के प्रसार को कभी भी और किसी भी परिस्थिति में किसी महिला की धर्मनिष्ठता या नैतिकता से नहीं जोड़ा जाना चाहिए।” मानवाधिकार मंत्री शिरेन माजरी ने कहा, ”हम इस तरह के भद्दे आरोपों के बहाने महिलाओं को निशाना बनाना स्वीकार नहीं करेंगे। पाकिस्तान के संविधान में निहित अपने अधिकारों का दावा करने के लिए कड़ा संघर्ष किया है।”

loading…