महिला पत्रकार ने की आत्महत्या, सपा नेता को बताया जिम्मेदार

वाराणसी: ‘वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम डे’ के ठीक एक दिन बाद एक महिला जर्नलिस्ट ने फांसी लगाकर जान दे दी। महिला पत्रकार ने अपनी मौत के लिए स्थानीय सपा नेता को जिम्मेदार ठहराया है। परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। साथ ही उसे हिरासत में ले लिया। लोहता के हरपालपुर गांव की रहने वाली रिजवाना तबस्सुम ने घर में फांसी लगा ली। कमरे से मिले सुसाइड नोट में रिजवाना ने स्थानीय सपा कार्यकर्ता समीम नोमानी को आत्महत्या का जिम्मेदार बताया है।

OMG: UP में शराब की बिक्री ने एक दिन में तोड़े सारे पुराने रिकॉर्ड

पुलिस ने इस आधार पर समीम के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 के तहत केस दर्जकर उसे गिरफ्तार कर लिया है। सीओ सदर अभिषेक पांडेय के अनुसार शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। रिजवाना ने आत्महत्या क्यों की, इसकी जांच चल रही है। उसके मोबाइल और लैपटॉप को कब्जे में ले लिया गया है।

इस देश ने चीन पर बोला हमला, ट्रंप ने थपथपाई पीठ, कहा- मैंने…

शहर की एक तेजतर्रार पत्रकार का यूं दुनिया छोड़ देना, हर किसी को अखर गया। रिजवाना ने पिछले कुछ सालों से फ्रीलांस जॉर्नलिस्ट के तौर पर अपनी अलग पहचान बना ली थी। वह बीबीसी हिंदी, The print, Wire और The quint जैसे धाकड़ मीडिया संस्थाओं के लिए काम कर रही थी। उसकी कई स्टोरी ने देशस्तर पर चर्चा बटोर चुकी है।

loading…