कोरोना प्रकोप: इस शहर में नहीं रहना चाहते लोग, 50 हजार ने मांगी शहर से जाने की अनुमति

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। यहां रोजाना बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे हैं। जिस कारण शहर में लागू लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा बंदिशें लगाई गई हैं। लोगों को पिछले 40 दिन से ना फल-सब्जियां खाने को नहीं मिल रहे है। जिससे लोग खासे परेशान हो गए हैं। इंदौर में अधिकतर बाहर से आकर पढ़ाई करने वाले, हॉस्टल में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्र छात्राएं हैं। इनमें बाहर से नौकरी करने आए लोग भी हैं, जिनका परिवार गांव या दूसरे शहरों में रहता है।

लॉकडाउन ताक पर रख दारोगा ने बनाया टिकटॉक वीडियो, हवा में लहराई AK-47, देखे वीडियो

40 दिन के लॉकडाउन से वे आजिज आ चुके हैं और किसी भी तरह इंदौर से निकलना चाहते हैं। इन लोगों के सामने खाने-पीने की बड़ी समस्या आ रही है। अब लॉकडाउन दो हफ्ते के लिए और बढ़ा दिया गया है, तो उनके धैयज़् का बांध टूट गया है। इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह ने इंदौर में फंसे लोगों से सरकारी वेबसाइट पर जानकारी देने को कहा तो पिछले तीन दिन में 50 हजार से ज्यादा लोगों ने अपनी अर्जी लगा दी और इंदौर से बाहर जाने की अनुमति मांगी।

loading...

इंदौर शहर के बाहर फंसे इंदौर वापस आने के इच्छुक लोगों और इंदौर में फंसे बाहर के जिलों के व्यक्तियों की जानकारी एकत्रित करने के लिए कलेक्टर मनीष सिंह ने पहल की है। इस विशेष पहल के माध्यम से कोई भी व्यक्ति अपनी जानकारी वेबसाइट पर दर्ज कर सकता है। इसी पर लोगों ने बाहर जाने की इच्छा जता दी और तो और बड़ी संख्या में लोग एप्लीकेशन लेकर कलेक्ट्रेट पहुंच गए। हालांकि ये पहले ही स्पष्ट कर दिया गया था कि यह ई-पास के लिए व्यवस्था नहीं है। जानकारी एकत्रित होने के बाद निर्णय लेकर उचित कारज़्वाई करने की बात कही गई थी

लॉकडाउन बढ़ाकर भी केंद्र सरकार ने दी बड़ी छूट, लेकिन कितनी तैयार राज्यों की सरकारें, देखे लिस्ट

इंदौर में अभी तक कोरोना वायरस के संक्रमण से 74 लोगों की मौता हो चुकी है। वहीं यहां कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना पॉजिटिव मरीजों के बढ़ेते आंकड़ों से यहां पढ़ाई और कम्पटीशन की तैयारी के लिए रह रहे बच्चों के मां बाप भी परेशान हैं। वे अपने बच्चों को इंदौर से निकालना चाहते हैं इसलिए जिला प्रशासन से अनुमति देने की गुहार लगा रहे हैं। फिलहाल इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह का कहना है कि कोरोना को लेकर इंदौर अभी रेड जोन में है और यहां से कोई भी व्यक्ति बाहर जाएगा तो उस जगह भी संक्रमण का खतरा बढ़ेगा।

loading…