कोरोना कहर : बच्चों के शरीर में दिखे ये लक्षण तो तुरंत लें डॉक्टर की मदद

corona irus symptoms

नई दिल्ली: मर्डोक चिल्ड्रन रिसर्च इंस्टिट्यूट की रिपोर्ट के मुताबिक ज्यादा उम्र के लोगों की तुलना में बच्चे इस बीमारी का कम शिकार हो रहे हैं. पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. हालांकि इन सभी मामलों में बच्चों की संख्या काफी कम है. हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि शायद कम और अच्छा इम्यून होने की वजह से बच्चे इसका कम शिकार हो रहे हों. हालांकि बच्चों में भी इस बीमारी के लक्षण काफी देरी से सामने आ रहे हैं.

देश में कोरोना केस बढ़कर 74 हज़ार के पार, 24 घंटे में सामने आए 3525 नए मामले, देखे लिस्ट

corona

‘मर्डोक चिल्ड्रन रिसर्च इंस्टिट्यूट’ (एमसीआरआई) की रिपोर्ट के मुताबिक ज्यादा उम्र के लोगों की तुलना में बच्चे इस बीमारी का कम शिकार हो रहे हैं. एमसीआरआई के डॉक्टर कर्स्टन पैरेट का कहना है कि बच्चों में नजर आने वाले सामान्य से लक्षणों को इग्नोर न करें.

लॉकडाउन के बीच शानदार मौका: टीवी, फ्रिज, एसी पर मिल रहा भारी डिस्काउंट, ऑफर सिर्फ इसी हफ्ते तक

एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस से संक्रमित बच्चों में कई तरह के लक्षण देखे गए हैं. कोविड-19 के चपेट में आने के बाद बच्चों को उल्टी, डायरिया और पेट में दर्द की समस्या हो सकती है. इसके अलावा बच्चों को तेज बुखार और सिरदर्द की भी समस्या होती है, जो कि कोरोना का सबसे खास लक्षण है.

UP मे कोरोना से राहतः आधे मरीज हुए ठीक, सक्रिय मामलों की संख्या अब सिर्फ …

हेल्थ एक्सपर्ट की राय है कि कोरोना से बचने के लिए लॉकडाउन में बच्चों को डाइट में हेल्दी चीजें खाने को दें. उनकी डाइट में हरी सब्जियां, फल, दूध, अंडा और वेजिटेबल सूप जैसी चीजों को शामिल करें. घर में बच्चों की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें और उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, और हैंड वॉश जैसी महत्वपूर्ण बातों की जानकारी दें.

loading…