अस्पताल की शर्मनाक हरकत, मुंहमांगे पैसे ना देने पर खोल दिए युवक के …..

कोटा: हम अक्सर सुनते आए हैं कि जब सब पर मुसीबत आती है, तब इंसानियत और बढ़ जाती है, दुश्मन भी एक दूसरे की मदद करने लगते हैं. लेकिन आज के दौर में कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनके लिए अपने स्वार्थ से ऊपर कुछ भी नहीं है. ये लोग किसी का दुःख-दर्द समझना तो दूर, उसे और बढ़ाने से भी नहीं हिचकते. ऐसा ही एक मामला राजस्थान के कोटा जिले से सामने आया है.ये मामला 2 मई का है.

डिनर में शख्स ने खाया कच्चा सांप, अचानक पेट में हुआ तेज दर्द, फिर….

दरअसल, कोटा के तलवंडी में एक कामगार को चोट लग गई थी, जिससे उसके चेहरे से खून बह रहा था. इतने में ही अन्य युवक ने जख्मी कामगार को देखकर उसका इलाज करवाने का सोचा. लेकिन लॉक डाउन होने के कारण वो पीड़ित को पास के ही विज्ञान नगर सारा हॉस्पिटल में ले गया, जहाँ जख्मी युवक को तीन टाँके लगाए गए. लेकिन यहाँ पीड़ित की मज़बूरी और लॉक डाउन की स्थिति का फायदा उठाकर अस्पताल प्रबंधन पीड़ित से 1400 रूपए की मांग करने लगा.

अब होगा कोरोना का खात्मा, वायरस को मारने वाले वैक्सीन का परीक्षण रहा सफल

लेकिन पीड़ित मजदुर के पास इतने पैसे नहीं थे. उसने कहा भी कि तीन टांके के इतने पैसे नहीं होते हैं, फिर भी अस्पताल प्रबंधन अपनी जिद पर अड़ा रहा. हद तो तब हो गई, जब 1400 रुपए ना होने पर पीड़ित के टाँके वापस खोल दिए गए. और उसे कहीं और जाने के लिए कहा गया. टाँके खोलने के दौरान युवक दर्द से छटपटाता रहा, लेकिन निर्दयी अस्पताल प्रबंधन पर कोई असर नहीं पड़ा. आज जब कोरोना संकट के दौरान दुनियाभर में लोग एक दूसरे का सहारा बन रहे हैं, वहीं इस अस्पताल में हुई शर्मनाक हरकत ने इंसानियत पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

loading…