अभी-अभी: कोरोना और तबलीगी जमात पर CM योगी ने बोल दी ये बड़ी बात..

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने साफ कह दिया कि फिलहाल रेड ज़ोन्स को किसी तरह की छूट नहीं दी जाएगी. योगी ने केंद्र से मदद और रैपिड टेस्टिंग पर भी बात की.
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो मई को आज तक के ई-एजेंडा कार्यक्रम से जुड़े. योगी ने तबलीगी जमात की बात की. कहा कि इसके लिए एक ही शब्द है- अशोभनीय. उन्होंने कहा,

“कोई बीमारी हो जाना अपराध नहीं होता. लेकिन जब आपको कोई संक्रामक बीमारी है और आप इसे छिपा रहे हैं तो ये ज़रूर एक किस्म का अपराध हो जाता है. इसके लिए कार्रवाई भी होगी. आज उत्तर प्रदेश में या देश में जहां कहीं भी कोरोना वायरस फैला है, उसके पीछे तबलीग़ी जमात है. अगर उन्होंने इसे छिपाया नहीं होता और कैरिअर बनकर जगह-जगह गए नहीं होते तो संभव था कि हम पहले चरण में ही इंफेक्शन को काबू कर लेते.”

स्वास्थ्यकर्मियों से लगातार हो रहे खराब व्यवहार पर योगी ने कहा कि –
“जमात से जुड़े लोगों ने कई जगह अभद्र व्यवहार भी किया है. कानपुर, गाज़ियाबाद, लखनऊ, वाराणसी या जहां कहीं भी इन लोगों ने खराब व्यवहार किया गया, वहां पहले समझाने का प्रयास किया गया. नहीं समझे तो वहां पर कठोर कार्रवाई भी हुई है. कोरोना कैरिअर बनकर कोई ये बीमारी फैलाएगा तो उसकी जवाबदेही भी सरकार तय करेगी.”

योगी का कहना है कि उत्तर प्रदेश जल्दी ही कोरोना वायरस के टेस्ट से जुड़ी सुविधाओं में देशभर में नंबर-1 राज्य होगा. इस दावे पर सवाल किया गया तो योगी ने जवाब दिया –

“अभी हमारे पास 75 से 80 फीसदी मामले ऐसे आ रहे हैं, जिनमें कोई लक्षण नहीं हैं. ऐसे में टेस्ट बेहद अहम हैं. एक समय था, जब हम 50 टेस्ट प्रतिदिन ही कर पा रहे थे. लेकिन अब ये क्षमता बढ़कर पांच हज़ार तक पहुंच चुकी है और लगातार बढ़ भी रही है. फिलहाल प्रदेश में 17 लैब चल रही हैं. एक हफ्ते में हमारे पास छह से सात लैब और होंगी.”

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस इंफेक्शन के 2300 से ज़्यादा केस आ चुके हैं. इनमें से 42 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 654 लोग रिकवर भी हो चुके हैं.

“कोरोना वायरस इंफेक्शन शुरू होने के वक्त कांग्रेस की सरकार थी, जिसने न तो कोई सिस्टम बनाया, न कोई व्यवस्था की. तब पूरे प्रदेश में सिर्फ एक टेस्टिंग लैब थी, जिसमें 60 टेस्ट होते थे. वो सरकार तो आईफा की तैयारियों में लगी थी. सीएम का काम संभालने के बाद मैंने पहली मीटिंग ही कोरोना वायरस के ख़िलाफ तैयारियों को लेकर की थी.”

loading…