महाभारत: जानिए एक रात व्याकुल होकर धृतराष्ट्र ने किसके साथ बनाया था अवैध संबंध

महाभारत से जुड़े बहुत सी ऐसी बात है जो हम जानते है लेकिन बहुत सी ऐसी बात है जो हम नहीं जानते है, वैसे आपको बता दे महाभारत काल में पुरुष और महिलायें एक से ज्यादा सम्बन्ध भी रख रही थीं और कई बार तो स्त्रियों के बच्चों का जन्म बिना शादी के भी हुआ है। आपको बता दे महाभारत का युद्ध एक ऐसा युद्ध था जहां करोड़ो लोग मरे गए थे , लेकिन इस महाकाल के युद्ध में कौरव की तरफ से एक मात्र पुरुष जीवित था चलिए जानते कौन था वो ,,,

कौरव-पांडव दोनों भाइयों की यही ख्वाहिश थी कि उनका पुत्र ही हस्तिनापुर का उतराधिकारी बने लेकिन सिहांसन पर बैठने की यह शर्त इस बात पर निर्भर करती थी कि दोनों राजाओं में से जिसका भी पुत्र पहले होगा वही हस्तिनापुर का उतराधिकारी बनेगा।

दोनों भाईयों में धृतराष्ट्र बड़े थे और गांधारी से उनका विवाह भी पहले हुआ था, लेकिन विवाह के कई समय बाद तक भी धृतराष्ट्र और गांधारी की कोई संतान नहीं हुई थी। एक दिन विवाह होने के इतने समय बाद भी अपनी संतान न होने के दुःख और सिंहासन के हाथ से निकलने के भय से धृतराष्ट्र व्याकुल होकर अपनी एक दासी के साथ ही अवैध संबंध बना बैठे, अवैध संबंध के चलते धृतराष्ट्र की दासी से जो पुत्र हुआ, वही बाद भी विकर्ण कहलाया। विकर्ण ने महाभारत के युद्ध में पांडवों की ओर से युद्ध में हिस्सा लिया था और सभी कौरवो में से विकर्ण ही एक ऐसा कौरव था, जो जीवित बच पाया था।

loading…