थाने में युवक ने की बहन से शादी, देखते रह गए लोग, पुलिस पर उठे…

रोहतास। कोरोना वायरस की वजह से चल रहे लॉकडाउन के बीच सामाजिक मान मर्यादा को शर्मसार करने वाला एक अजीबोगरीब मामला बिहार से सामने आया है। यहां रिश्तों को ताक पर रखकर रोहतास जिले के करगहर प्रखंड के एक गांव में एक युवक ने घरवालों की नाराजगी के बावजूद अपनी नाबालिग बहन से शादी कर ली है।

इससे भी ज्यादा रोचक बात ये है कि यह बाल विवाह थाने के परिसर स्थित मंदिर में पुलिस की मौजूदगी में हुआ है। मामला करगहर विधानसभा क्षेत्र के बड़हरी ओपी थाना परिसर का है, जहां चचेरे भाई-बहन की शादी कराई गई। बहन नाबालिग (13 साल) है। आठवीं कक्षा की छात्रा है। इस घटना के बाद कई तरह के सवाल उठ रहे हैं।

5 पति होने के बावजूद जिंदगी भर कुंवारी थी द्रौपदी….. राज जानकर रह जाएंगे हैरान

दरअसल, बड़हरी के एक गांव का 18 वर्षीय युवक छह माह पहले अपनी चचेरी बहन को बहला-फुसलाकर लेकर दिल्ली फरार हो गया था। वहीं दोनों ने शादी कर ली थी और पति-पत्नी की तरह रह रहे थे। उस समय बदनामी के डर से घर वालों ने पुलिस में शिकायत नहीं की।

जब लॉकडाउन के कारण दोनों के पास पैसे खत्म हो गए तो वापस दोनों अपने गांव आ गए। गांव पहुंचने पर दोनों के परिजन नाराज हो गए और घर में रखने से इनकार कर दिया। दोनों गांव में ही पति पत्नी के रूप में रहने लगे, लड़की गर्भवती हो गई। घरवाले दोनों के इस रिश्ते का विरोध कर रहे थे। इसके बाद दोनों थाने पहुंचे थे और अपनी सुरक्षा की मांग की थी। जिसके बाद थानाध्यक्ष ने उनकी बातें सुनकर परिजनों से बात की थी।

loading...

लॉकडाउन में भाभी को इस तरह देख देवर ने आपा खो, कर डाला ये काम…

थानाध्यक्ष हरेकृष्ण राय ने बताया कि दोनों के परिवार वालों को बुलाया और कानूनी बातें समझाईं और प्राथमिकी दर्ज करने के लिए कहा लेकिन दोनों परिवार में से कोई भी केस दर्ज कराने के लिए तैयार नही हुआ। इसके बाद दोनों के परिवार वाले शादी कराने के पक्ष में दिखे और फिर एक-दूसरे से अनुनय-विनती के बाद ओपी परिसर स्थित मंदिर में दोनों की शादी कराई गई, शादी में पुलिस भी मौजूद रही। शादी के बाद अपने-अपने बेटे-बेटी की गलती देख दोनों के पिता फफक कर रो पड़े।

जानिए, अपने पेशाब से कैसा है आपका स्वास्थ्य, इस रंग का आता है पेशाब तो आप पूरी तरह….

थाना परिसर में शादी के मामले पर सवाल पूछे जाने पर थानाध्यक्ष हरेकृष्ण राय ने कहा कि शादी थाना परिसर में नहीं कराई गई। हमने पहले एफआइआर दर्ज कराने को कहा था। थाने में शादी करने का निर्देश नहीं दिया था। लोगों ने गरीब परिवार का हवाला देकर उन्हें गांव ले जाने की बात कही थी। परिसर स्थित मंदिर में क्या हुआ, इसकी मुझे कोई जानकारी नहीं है।
ओपी प्रभारी हरेकृष्णा राय ने कहा कि पहले एफआईआर दर्ज कराने को कहा था। थाने में शादी करने का निर्देश नहीं दिया था। लोगों ने गरीब परिवार का हवाला देकर उन्हें गांव ले जाने की बात कही थी। परिसर स्थित मंदिर में क्या हुआ, इसकी जानकारी नहीं है।

अपने दामाद के साथ जबरन संबंध बनाती थी सांस, जब किया यह कांड

loading…