हरियाणा में शराब के ठेको को लेकर बडी खबर, यहां देंखे

चंडीगढ़. देश के अन्य प्रदेशों की तरह हरियाणा में भी जल्द ही शराब के ठेके खुल सकते हैं. खट्टर सरकार की शराब ठेकेदारों के साथ दो दिन से चल रही बातचीत अंतिम नतीजे पर पहुंच गई है. बंद में ठेकेदारों को हुए नुकसान के मद्देनजर सरकार उन्हें आबकारी फीस में रियायत देने की तैयारी में है. हालात सामान्य रहने पर जल्दी ठेके खुल सकते हैं. बीते दो दिनों से इस मामले पर बातचीत चल रही थी. आबकारी एवं कराधान मंत्री होने के नाते डिप्टी सीएम दुष्यंत सिंह चौटाला ने खुद बैठक ली, जिसमें विभाग के उच्च अधिकारी मौजूद रहे.

शराब ठेकेदार इस बात पर अड़े हुए हैं कि मार्च में जब बोलियां लगाई थीं, उस समय देश और प्रदेश की स्थिति अलग थी. कोरोना के कारण स्थिति पूरी तरह से बदल गई है. ऐसे में उन्हें आबकारी डयूटी में 50 प्रतिशत की छूट दी जाए. उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला इस मुद्दे पर सीएम मनोहर लाल के साथ दो से तीन बार बैठक कर चुके थे.

सूत्रों के अनुसार, आखिर में यह निर्णय हुआ है कि ठेकेदारों की 20 मई तक की आबकारी डयूटी माफ की जाएगी. लॉकडाउन अवधि की पूरी फीस भी माफ रहेगी. सरकार ने अगले वर्ष मई तक नई आबकारी नीति को विस्तार देने की भी मंजूरी दे दी है. इसके बाद सोमवार को पानीपत में ठेकेदारों की बैठक हुई. इस बैठक में सर्वसम्मति से फैसला ठेकेदारों ने सरकार को सूचित किया है कि वे प्रदेशहित में ठेके खोलने को तैयार हैं.

रेड जोन में जितने भी दिन ठेके बंद रहेंगे, उतने दिन की ड्यूटी माफ की जाएगी. सरकारी सूत्रों के अनुसार देसी शराब के पव्वे पर रेट में लगभग 2, आधे पर 3 और बोतल पर 5 रुपये की बढ़ोतरी होगी. इससे देसी पव्वे की पेटी पर 100, आधे की पेटी 75 और बोतल की पेटी पर 60 रुपये का इजाफा होगा. यह बढ़ोतरी ‘कोरोना सेस’ के नाम पर होगी. अंग्रेजी शराब पर 7 से 10 रुपये बोतल तब बढ़ोतरी का प्रस्ताव तैयार किया गया है. विदेशी शराब की बोतल पर 20 रुपये तक कोरोना सेस लगाया जाएगा. इस ड्रॉफ्ट को मुख्यमंत्री के पास भेजा गया है. सीएम की मंजूरी मिलते ही ठेके खोलने के आदेश जारी हो जाएंगे.

loading…