रमजान : रोजे रखते वक्त ना करें ये काम वरना टूट जाता है रोजा…

इस्लाम धर्म के लिए रमज़ान का पवित्र महीना एक उत्सव होता है। इस महीने में कई चीज़ों की, कई बातों की मनाही होती है। ऐसे में रमज़ान के महीने में किए गए हर नेक काम का पुण्य यानी सवाब 70 गुना मिलता है। कहा जाता है 70 गुना अरबी में मुहावरा है, जिसका मतलब होता है बेशुमार इस कारण प्रत्येक मुस्लिम इस पाक महीने में ज्यादा से ज्यादा नेक काम करते हैं।

ये काम करने से टूट जाता है रोजा : अपनी कमाई का कुछ हिस्सा दान के रूप में दिया जाता है। वहीं अगर कोई व्यक्ति अपने माल की ज़कात इस महीने में निकालता है तो उसको 1 रुपये की जगह 70 रुपये अल्लाह की राह में देने का पुण्य मिलता है।

इन 5 कामों से टूट जाता है रोजा :
*झूठ बोलना
*बदनामी करना
*किसी के पीछे उसकी बुराई करना
*झूठी कसम खाना
*पांचवीं लालच करना.
*रोजा हमें झूठ, हिंसा, बुराई, रिश्वत तथा अन्य तमाम गलत कामों से बचने की प्रेरणा देता है और इसकी मश्क यानी (अभ्यास) पूरे एक महीना कराया जाता है ताकि इंसान पूरे साल तमाम बुराइयों से बचें। इंसान से हमदर्दी का भाव रखा जाए।

loading…