योगी सरकार ने लोगो को दिया ये बड़ा तोहफा, कहा 10 हजार तक…

मुख्यमंत्री के निर्देश पर मेडिकल स्क्रीनिंग के लिए 50 हज़ार से अधिक लोगों की मेडिकल टीमें प्रदेश भर में लगाई गई हैं. बता दें आज सोमवार को यूपी में 5 ट्रेनें गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक से प्रवासी कामगार मजदूरों को लेकर पहुंच रही हैं. मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश के सभी कम्युनिटी किचन की जियो टैगिंग की जा रही है. इनमें प्रवासी कामगारों के लिए अब तक तैयार 11 लाख लोगों के क्वारेंटाइन सेंटर्स और आश्रय स्थलों की भी जियो टैगिंग की जा रही है.

बडी खबर: CM योगी ने किया बड़ा एलान, मजदूरों को दिए जाएँगे इतने हजार रूपए, यहा देंखे

बता दें यूपी में बाहर से आ रहे लोगों को पहले सरकार की तरफ़ से बनाए गए ज़िलों के क्वारेंटाइन सेंटर ले ज़ाया जाएगा. इसके बाद मेडिकल जांच के बाद उन्हें जरूरत के हिसाब से होम क्वारेटाइन या अस्पताल भेजा जाएगा. जांच में जो भी लोग स्वास्थ पाए जाएंगे, उन्हें खाद्यान्न पैकेट के साथ होम क्वारेंटाइन में भेज दिया जा रहा है. इसके अलावा निराश्रित लोगों को भरण पोषण भत्ता भी दिया जा रहा है.

UP: मेरठ में नहीं थम रहा कोरोना का आतंक, जा रही लोगों की जान

दरअसल उत्तर प्रदेश में प्रवासी कामगार श्रमिकों के आने का सिलसिला जारी है. आज भी 5 ट्रेन गुजरात महाराष्ट्र से कर्नाटक से प्रवासी कामगार मजदूरों को लेकर प्रदेश में आएंगी. इन्हें इनके गृह जिले तक पहुंचाने के लिए 10,000 बसें लगाई गई हैं. वहां इन्हें शासन के क्वारेंटाइन सेंटर ले जाया जाएगा और इनका हेल्थ चेक अप होगा. पूरे प्रदेश में 50,000 से अधिक मेडिकल टीम इस कार्य में लगी हैं.

डिनर में शख्स ने खाया कच्चा सांप, अचानक पेट में हुआ तेज दर्द, फिर….

जो हॉटस्पॉट, क्वारेंटाइन सेंटर में स्क्रीनिंग चेकअप टेस्टिंग कर रहे हैं.उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार टीम-11 की बैठक में दूसरे राज्यों से प्रदेश में आ रहे प्रवासी मजदूरों, कामगारों laborers, workers) को लेकर निर्देश दे रहे हैं. सरकार ने प्रवासी मजदूरों, कामगारों को घरों तक सुरक्षित पहुंचाने की रणनीति बनाई है. इसके तहत लोगों को सुरक्षित पहुंचाने के लिए 10 हज़ार बसें लगाई गई हैं.

loading…