ये सरकारी योजना आपकी बेटी को 21 साल में बना देगी करोड़पति, जानिए कैसे

नई दिल्ली। अपने बच्चों का उज्जवल भविष्य हर मां-बाप का सपना होता है। इस सपने को साकार करने में पैसों की बड़ी अहमियत होती है। खासकर बेटियों की शादी के लिए रुपये जमा करने की चिंता पेरेंट्स को लगी रहती है। ऐसे में सुकन्या समृद्धि योजना काफी मददगार साबित हो सकती है। इस योजना में किया गया छोटा-छोटा निवेश आपकी बेटी के व्यस्क होने तक करोड़पति बना सकता है। बेटियों के लिए यह योजना सबसे अधिक लोकप्रिय लॉन्ग टर्म निवेश है। सुकन्या समृद्धि योजना सरकार की एक स्मॉल डिपॉजिट स्कीम है, जो कि केवल बेटियों के लिए है। इस योजना को सरकार के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कैंपेन के हिस्से के रूप में लॉन्च किया गया था।

इस योजना में पेरेंट्स अपने बेटी की उच्च शिक्षा और शादी के खर्चों को पूरा करने के लिए निवेश कर सकते हैं। इस योजना के तहत बेटी की 21 साल की आयु होने पर रिटर्न पाया जा सकता है। मौजूदा SSY नियमों के अनुसार, अगर अभिभावकों ने बेटी की कम आयु में ही योजना में निवेश करना शुरू कर दिया है, तो वे 15 सालों तक योजना में निवेश कर सकते हैं।

Big News: कोरोना कहर के बीच देश के इस शहर में सड़क पर बेहोश होकर गिरने लगे लोग, मचा हडकंप, तस्वीरें उडा देंगी होश

सुकन्या समृद्धि योजना पर इस समय 7.6 फीसद की दर से ब्याज दिया जा रहा है। सरकार द्वारा इस योजना पर ब्याज दर को हर तीन महीने के लिए तय किया जाता है। इस योजना में अकाउंट खुलवाते समय जो ब्याज दर रहती है। उसी दर से पूरे निवेश काल में ब्याज मिलता रहता है। अर्थात किसी ने एसएसवाई अकाउंट अप्रैल से जून 2020 के बीच खुलवाया है, तो उन्हें पूरी निवेश अवधि के दौरान 7.6 फीसद की दर से ब्याज मिलता रहेगा।

loading...

अगर बेटी की कम आयु में ही पेरेंट्स सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करना शुरू कर दें, तो 21 साल की होने तक उनकी बेटी मिलियनेयर बन सकती है। अगर कोई अभिभावक अपनी बेटी की एक साल की आयु होने पर सुकन्या समृद्धि योजना खाते में 12,500 रुपये प्रति महीने अर्थात 1.5 लाख रुपये सालाना निवेश करें, तो SSY कैलकुलेटर के अनुसार, बेटी के 21 साल की होने पर कुल मैच्योरिटी राशि 63.7 लाख रुपये हो जाएगी। इस निवेश में कुल जमा राशि 22.5 लाख रुपये है और कुल ब्याज आय 41.29 लाख रुपये है। अर्थात मैच्योरिटी की राशि का 35.27 फीसद डिपॉजिट है, तो 64.73 फीसद ब्याज है। वहीं, अगर माता और पिता दोनों ही बेटी के लिए निवेश करें, तो 21 साल की आयु होने पर कुल मैच्योरिटी राशि 1.27 करोड़ रुपये पहुंच सकती है। इस कैलकुलेशन में डिपॉजिट अवधि 15 साल और मैच्योरिटी अवधि 21 साल है।

अभी अभीः आने वाली है बडी तबाही? बिगडा दुनियाभर के वैज्ञानिकों का गणित…. हालात बेकाबू

सुकन्या समृद्धि योजना में न्यूनतम डिपॉजिट राशि 250 रुपये होती है, जबकि अधिकतम डिपॉजिट राशि 1.5 लाख रुपये होती है। इस योजना में एक महीने में या एक साल में कितनी भी बार डिपॉजिट कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योनजा में सालाना 1.5 लाख तक का निवेश आयकर छूट के योग्य होता है। इस तरह अभिभावक आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत इस योजना में निवेश पर आयकर छूट का लाभ ले सकते हैं। इसके अलावा ब्याज आय निकासी और मैच्योरिटी राशि भी इस योजना में टैक्स फ्री ही होती है।

loading…