खुलकर आयी मायावती बीजेपी के साथ, बोल दी ये बडी बात

लखनऊ: कांग्रेस और भाजपा में भारत-चीन मुद्दे पर गाल्वन घाटी को लेकर तनातनी जारी है। दोनों दलों के बीच युद्ध के सामने, बसपा सुप्रीमो ने कहा है कि देश के लोग आपसी लड़ाई के कारण सबसे अधिक पीड़ित हैं। उन्होंने कहा कि इस लड़ाई में राष्ट्रहित के मुद्दों को दबाया जा रहा है। साथ ही मायावती ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी चीन के मुद्दे पर केंद्र के साथ है।

मायावती ने कहा, ‘वर्तमान समय में चीन के मुद्दे को लेकर देश में कांग्रेस और भाजपा के बीच आरोप प्रत्यारोप की घिनौनी राजनीति ठीक नहीं है। उनकी आपसी लड़ाई का खामियाजा देश की जनता सबसे ज्यादा भुगत रही है। इस लड़ाई में, राष्ट्रहित के मुद्दों को दबाया जा रहा है।

उन्होंने आगे कहा, ‘इन दो लड़ाइयों में पेट्रोल और डीजल सबसे गर्म मुद्दा है। केंद्र सरकार से मेरा एकमात्र अनुरोध पेट्रोल और डीजल की कीमतों को नियंत्रित करना है।

मायावती ने कहा, “जमीनी स्तर से रिपोर्ट के अनुसार, गरीब कल्याण योजनाओं का प्रचार बहुत अधिक हो रहा है, लेकिन इसका लाभ गरीब और जरूरतमंद लोगों तक नहीं पहुंच रहा है। सत्ता पक्ष के लोगों को योजनाओं का लाभ मिल रहा है। हर राज्य।

मायावती ने कहा, ‘हमने हमेशा दलगत राजनीति से ऊपर उठकर, राष्ट्रहित के मुद्दों पर केंद्र सरकार का समर्थन किया है। बीएसपी चीन के मुद्दे पर भाजपा के साथ खड़ा है। मैं कांग्रेस पार्टी को बताना चाहता हूं कि बीएसपी कभी भी किसी भी पार्टी की प्रवक्ता नहीं रही है या भविष्य में भी रहेगी।

loading…