Big News: WHO ने माना, चीन ने फैलाया कोरोना! सामने आयी चौंका ने वाली ये सच्चाई…

China spread Corona! Truth revealed

नई दिल्ली : कोरोना वायरस को लेकर सारी दुनिया चीन को जिम्मदार ठहरा रही है।  यहां वायरस फैलने से रोकने की कोशिश समय पर नहीं की और बाकी दुनिया को भी अंधेरे में रखा। इस पर डब्ल्यूएचओ (WHO) ने शुक्रवार को कहा कि चीन के वुहान मार्केट ने पिछले साल कोविड-19 के संक्रमण को फैलाना में अहम भूमिका निभाई है। साथ ही ये भी कहा कि हमें इस बारे में अभी और विस्तार से व्याख्या करनी होगी। माना जा रहा है कि कोरोना वायरस की शुरुआत चीन के वुहान से हुई। पिछले साल नवंबर में कोविड-19 संक्रमण का पहला मामला यहां के मांस बाजार में पाया गया था।

बड़ी खबर: UP 69000 सहायक शिक्षक भर्ती… आपका सेलेक्शन हुआ या नहीं, यहां देखें

चीनी अधिकारियों ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जनवरी में बाजार बंद करने का फैसला लिया था और वन्यजीवों के व्यापार और खपत पर अस्थाई प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था। संगठन ने कहा कि यह स्पष्ट है कि वुहान के बाजार ने संक्रमण के प्रसार में भूमिका निभाई, लेकिन किस तरह की यह अभी साफ नहीं है। पीटर बेन ने आरोपों पर कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि ऊंटों को एमईआरएस (मिडल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम) वायरस के स्रोत के रूप में पहचानने में शोधकर्ताओं को एक साल लग गया था। कोरोना वायरस के स्रोत को पहचानने के लिए अभी देर नहीं हुई है। पीटर बेन ने कहा कि कोरोना ऐसे वायरस के समूह से ताल्लुक रखता है जिसकी उत्पत्ति और संक्रमण दोनों जानवरों में हुई है, लेकिन यह इंसानों में कैसे फैला इस पर रिसर्च के नतीजे आने बाकी हैं।

loading...

कोरोना के कारण यहां के कब्रिस्तानों में जगह पड रही है कम, एडवांस बुकिंग कर रहे लोग

पीटर ने कहा कि यह बात साफ नहीं हो सकी कि जिंदा जानवरों या इन्फेक्टेड दुकानदारों या खरीददारों में से कौन वायरस को मार्केट में लाया। पीटर ने चीन पर लगाए जा रहे अमेरिका के आरोपों पर कोई जवाब नहीं दिया। बता दें कि अमेरिका का दावा है कि उसके पास इस बात के पर्याप्त सबूत हैं कि वायरस चीन में ही पैदा हुआ था।

डब्ल्यूएचओ के खाद्य सुरक्षा और जूनोटिक वायरस विशेषज्ञ पीटर बेन ने कहा कि क्या यह एक महज संयोग भर था कि वुहान के बाजार के आसपास पहले कुछ मामलों का पता चला था। उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि जीवित जानवर या संक्रमित दुकानदार ने वायरस को बाजार में लाया था। अमेरिका के सचिव माइक पोंपियों ने कहा था कि इस बात के पूरे सबूत हैं कि कोविड-19 का वायरस वुहान के किसी लैब से फैला है। हालांकि जर्मनी की खुफिया रिपोर्ट ने पोंपियो के आरोप पर संदेह जताया है। कोविड-19 किसी लैब से फैला है इस बात का कोई प्रमाण नहीं है। वुहान के वैज्ञानिकों ने कहा था कि यह प्रकृतिक रूप से फैला है।

17 मई के बाद ये बडे कदम उठाने वाली है मोदी सरकार, जान ले. ..

पीटर ने यह भी कहा कि जांच की बात की जाए तो इस बात की संभावना ज्यादा है कि चीन के पास जांच के सभी साधन हैं और बहुत से योग्य रीसर्चर्स भी हैं। पीटर ने दुनियाभर के वेट मार्केट्स में नियमों का पालन किए जाने, साफ-सफाई की सुविधाओं को सुधारने और कुछ को बंद करने की भी जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि वेस्ट मैनेजमेंट, लोगों और सामान के मूवमेंट और जिंदा जानवरों को प्रॉडक्ट्स से अलग करने पर ध्यान देना होगा।

loading…