छात्रों के भविष्य पर फैसला आज, शिक्षामंत्रियों की बैठक में हो सकते है ये ख़ास फैसले….

नई दिल्ली: कोरोना वायरस को रोकने के लिए लागू हुए लॉकडाउन से भारत की शिक्षा व्यवस्था बेपटरी हो गयी। एक महीने से ज्यादा समय से स्कूल-कॉलेज और अन्य सभी शिक्षण संस्थाएं बंद हैं। वहीं 3 मई को लॉकडाउन हटने के बाद भी शिक्षण संस्थानों के खुलने की संभावना कम ही है। इसी कड़ी में आज देश के सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों की बड़ी बैठक बुलाई गयी है, जिसमे कई अहम फैसले हो सकते हैं।

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल देश के सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों संग मंगलवार को दोपहर दो बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मीटिंग करेंगे। इस अहम बैठक में कई बड़े मुद्दों पर चर्चा होनी है। दरअसल, राज्य बोर्डों और सीबीएसई बोर्ड की भी परीक्षाएं रुकी हुई हैं। मंत्री परीक्षाओं को लेकर कोई रास्ता निकालेंगे।

Breaking News: दुनिया के सामने आये कोरोना के 6 नये लक्षण, जान लें वरना पछतायेंगे

इस बारे में मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘एचआरडी मंत्री कोविड-19 से निपटने, मध्याह्न भोजन कार्यक्रम, समग्र शिक्षा कार्यक्रम जैसे मुद्दों पर वीडियो कॉल के माध्यम से राज्य के शिक्षामंत्रियों के साथ चर्चा करेंगे।’

बता दें कि इससे पहले सोमवार को पोखरियाल ने छात्रों और अभिभावकों से सोशल मीडिया के जरीए बातचीत की थी और लॉकडाउन के चलते पुस्तकों की अनुपलब्धता और बोर्ड परीक्षा की अनिश्चितता समेत विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस का असर भारत की शिक्षा व्यवस्था पर भी पड़ा है। लॉकडाउन के कारण छात्र घरों से पढ़ाई कर रहे हैं। सरकार के आदेश पर उनके लिए ऑनलाइन क्लासेस शुरू की गयी है।

loading…