चीन की रचाई गई घिनौनी साजिश ने खोले भारत की कामयाबी के रास्ते, जानिये कैसे..

कोरोना कहर में दुनियाभर में चीन के सामान को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं. आपको बता दें कि चीन की दवाओं और चिकित्सा उपकरणों पर दुनियाभर के देशों का भरोसा कम हो रहा है। इसका फायदा उठाने के लिए सरकार बंद पड़ी सक्रिया फार्मा घटक (एपीआई) इकाइयों को दोबारा शुरू करने की तैयारी में है।

अभी-अभीः फंस गया चीन, वुहान की लैब से ही निकला कोरोना, मिले सुबूत

इसके साथ ही बंद पड़ी इकाइयों को राजकोषीय मदद के साथ पूंजीगत सब्सिडी, दो साल तक ईएमआई में छूट और तीन साल तक बिना ब्याज कर्ज देने से एपीआई निर्माण के लिए प्रेरित किया जा सकता है। उन्होंने कहा, सरकार पहले ही सभी 53 केएसएम (प्रमुख शुरुआती सामग्री, जो एपीआई के लिए ब्लॉक का निर्माण करते हैं) और एपीआई के लिए प्रोत्साहन देने की घोषणा कर चुकी है, जिनके लिए हम आयात पर निर्भर हैं।

loading…