आग यूपी में, जलेगा चीन, यह है पूरी तैयारी

आगरा: लद्दाख की गाल्वन घाटी में 20 भारतीय शूरवीरों की शहादत के बाद देश भर के लोगों में गुस्सा और बदला है। वहीं, इसका असर अब ताजनगरी में भी देखा जा रहा है। शहर के निवासी, जिन्होंने तोप और हथियारों के साथ चीन को सबक सिखाने का मौका नहीं पाने की दुहाई दी है, ने अब चीन को आर्थिक रूप से कमजोर करने का वादा किया है।

पूरा शहर अब चीन की तानाशाही के बारे में एकजुट हो रहा है। चीनी उत्पादों के चीनी बाजार की सड़कों पर होली जलाई जा रही है। हर जगह लोग चीन की झालर, टीवी और मोबाइल का विरोध कर रहे हैं। कहीं सड़कों पर, सांसद प्रो। एसपी सिंह बघेल ने चीनी सामान जलाया, जबकि मेयर नवीन जैन ने ड्रैगन को कमजोर करने के लिए चीनी सामान जलाया।

चीन निर्मित वस्तुओं का बहिष्कार सच्ची श्रद्धांजलि होगी
शहरवासी अब चीनी सेना के हाथों देश के शहीद सैनिकों के सैनिकों के लिए चीन निर्मित सामानों का बहिष्कार कर शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं। सांसद ने जनता से चीनी उत्पादों का उपयोग न करने और उनका बहिष्कार करने की अपील की है। किसी देश को कमजोर करने के लिए, उसकी आर्थिक स्थिति को कमजोर करना बेहतर है। मेयर ने कहा कि यह दिवाली चाइना मेड घर पर किसी भी सामान का उपयोग करने के लिए नहीं है। स्वदेशी अपनाकर देश को मजबूत बनाएं।

आगरा में आग, चीन जलाएगा
शहर के प्रबुद्ध वर्ग ने चीन द्वारा बनाए गए उत्पादों को एक स्थान पर एकत्रित किया और उसमें आग लगा दी। इसमें मोबाइल चार्जर, एलईडी, मोबाइल, सीसा और अन्य सामान शामिल हैं। शहर वासियों ने कहा कि अगर यहां चीनी सामान में आग लगी तो चीन जलने लगेगा, यानी आर्थिक स्थिति कमजोर होगी और लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो जाएगा। इसलिए हम सभी को मिलकर चीन के सामानों का बहिष्कार करना होगा।

loading…