अलर्टः सरकार ने बदला पैसा निकालने का नियम, इस वजह से लिया ये बड़ा फैसला

नई दिल्लीः केंद्र सरकार ने गरीब लोगों के लिए चलाई जा रही कई योजनाओं की किस्त को लोगों के खाते में डालना शुरू कर दिया है. हालांकि मई से बैंकों ने पैसा निकालने के नियमों को कड़ा कर दिया है. सोमवार से प्रधानमंत्री जन धन खातों में सरकार महिलाओं के लिए 500 रुपये की अगली किस्त को डालना शुरू कर देगी. लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि लोग सोमवार से बैंकों के आगे भीड़ लगाना शुरू कर दें. इसके अलावा सरकार किसान सम्मान निधि और गरीब कल्याण योजना के तहत भी लोगों की आर्थिक मदद कोरोना काल में कर रही है.

बैंकों ने सख्त किया नियम
बैंकों ने हालांकि इस बार पैसा निकालने के नियमों को काफी कड़ा कर दिया है. कोरोना वायरस महामारी के चलते और सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए नये नियम बनाए हैं. पिछली बार अप्रैल में जब सरकार ने पैसा खातों में डाला था, तब भी महिलाओं की काफी भीड़ लग गई थी. अबकी बार बैंकों ने फैसला किया है कि खाता संख्या के आखिरी अंक के अनुसार लोगों को पैसा जारी किया जाएगा.

ऐसे निकलेगा पैसा

कोरोना वायरस: संकट में सऊदी अरब लेने जा रहा ये कड़े फ़ैसले

खाता संख्या का आखिरी अंक पैसा निकालने की तिथि
0-1 4 मई
2-3 5 मई
4-5 6 मई
6-7 8 मई
8-9 11 मई

एटीएम से भी निकाल सकते हैं पैसा
इंडियन बैंक एसोसिएशन का यह भी कहना है कि कोशिश करें कि अपने आसपास के बैंक मित्र या सर्विस सेंटर से पैसा निकाल लें. वहीं ये भी कहा है कि किसी भी एटीएम से पैसा निकाल सकते हैं इसके लिए कोई चार्ज भी नहीं लगेगा. हालांकि 11 मई के बाद कोई भी खाता नंबर वाला व्यक्ति पैसा निकाल सकता है.

आईबीए ने लोगों से अपील की है कि वो बैंकों के सामने भीड़ न लगाएं. जिसका जो खाता संख्या है, केवल वो ही व्यक्ति पैसा निकालने तारीख के हिसाब से आए.

शनिवार को बैंकिंग सचिव देबाशीष पांडा ने ट्वीट करते हुए कहा कि जनधन खाते में मई माह की किस्त को जारी कर दिया गया है. लोगों का पैसा पूरी तरह से सुरक्षित है और सरकार इस किस्त की रकम को फिर से वापस नहीं लेगी, अगर कोई व्यक्ति इस किस्त को नहीं निकालता है तो भी उसका पैसा खाते में ही पड़ा रहेगा. वित्त मंत्रालय ने यह भी कहा है कि लोग 2 हजार रुपये तक खाते से निकालने के लिए एटीएम या फिर बैंक मित्र का इस्तेमाल करें. अभी फिलहाल किसी भी एटीएम से पैसा निकालने पर किसी तरह का कोई चार्ज नहीं लग रहा है.

loading…