BIG NEWS: लाॅकडाउन को लेकर पीएम मोदी की बडी बैठक, अंदर से आई ये बडी खबर

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की विकराल होती दूसरी लहर के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक शुरू हो चुकी है। बैठक में देश में कोरोना महामारी की स्थिति की समीक्षा और संक्रमण को फैलने से रोकने की रणनीति पर चर्चा हो रही है।

– प्रधानमंत्री मोदी ने नाइट कर्फ्यू को प्रभावी बताते हुए राज्यों को सलाह दी कि इसे कोरोना कर्फ्यू के तौर पर लागू करना चाहिए। इससे लोगों में जागरूकता बढ़ेगी। पीएम ने कहा कि अब हमारे पास संसाधनों के साथ-साथ अनुभव भी है।

– प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वैक्सीन से ज्यादा टेस्टिंग पर जोर दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना ऐसी चीज है जिसे जबतक आप बाहर से लेकर नहीं आएंगे, तबतक वह नहीं आएगा। इसलिए टेस्टिंग और ट्रेसिंग बढ़ाने की जरूरत है।

– प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि टेस्टिंग बढ़ने से संक्रमण के मामले जरूर बढ़ेंगे, लेकिन संख्या की वजह से होने वाली आलोचनाओं की परवाह न करें। उन्होंने कहा कि वह पहले भी यह बात कह चुके हैं।

– पीएम मोदी ने कहा कि स्वैब का सैंपल लेने में सावधानी बरतनी चाहिए। मुंह और नाक में अंदर से सैंपल लिया जाना चाहिए। सैंपलिंग सही से होनी चाहिए। आरटीपीसीआर टेस्ट को बढ़ाने की जरूरत है।

– बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र जैसे कई राज्यों मे कोरोना की दूसरी लहर पहली लहर के पीक को भी पार कर चुकी है। उन्होंने कहा कि केस बढ़ने की एक बड़ी वजह यह है कि लोग अब लापरवाह हो गए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए फिर से युद्धस्तर पर प्रयास करने की जरूरत है।

बैठक में कुछ राज्यों में वैक्सीन की कथित कमी और वितरण में कथित भेदभाव, वैक्सीनेशन को सभी उम्र के लोगों के लिए खोलने की मांग जैसे मुद्दे भी राज्यों की तरफ से प्रधानमंत्री मोदी के सामने उठाए जा सकते हैं।

दरअसल, महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश जैसे कुछ राज्यों ने कोरोना वैक्सीन की कमी का दावा किया है। महाराष्ट्र सरकार तो केंद्र पर वैक्सीन के वितरण में राज्य के साथ भेदभाव तक का आरोप लगाया है। हालांकि केंद्र इन आरोपों को निराधार बताकर सिरे से खारिज कर रहा है। इसके अलावा दिल्ली जैसे कुछ राज्य वैक्सीनेशन को सभी उम्र के लोगों के लिए खोलने की मांग कर रहे हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक में राज्यों की तरफ से ये मुद्दे भी उठाए जा सकते हैं।

देश में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान संक्रमण बेकाबू होता दिख रहा है। अब रोजाना लाख, सवा लाख नए केस तक आने लगे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में एक दिन में कोविड-19 के 1,26,789 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़ कर 1,29,28,574 हो गए हैं जबकि वायरस से अब भी संक्रमित लोगों की संख्या (ऐक्टिव केस) फिर से 9 लाख का आंकड़ा पार कर गई है। कोरोना ‘विस्फोट’ के मद्देनजर दिल्ली, मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। यूपी में राजधानी लखनऊ, वाराणसी, नोएडा, गाजियाबाद जैसे शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाया है। महाराष्ट्र में तो वीकेंड लॉकडाउन समेत लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू की जा चुकी हैं।

Special for You