राजस्थान में भारी बवाल, एंबुलेंस फूंकी, जमकर तोड़फोड़-यहां देखें

नागौर। नागौर के मूंडवा स्थित अंबुजा सीमेंट के प्लांट में देर रात एक मजदूर की मौत हो गई। साथी की मौत से अन्य मजदूर आक्रोशित हो गए। सुबह होते-होते मजदूरों की भीड़ उग्र हो गई। गुस्साए मजदूरों ने फैक्ट्री में खड़े वाहनों में आग लगा दी। ऑफिस के एक हिस्से में जमकर तोड़फोड़ की। मूंडवा थाना पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन हालात इस कदर बिगड़ गए थे कि पुलिस संभाल नहीं सकी। पुलिस ने मजदूरों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन उन पर कोई असर नहीं हुआ।

पुलिस के मुताबिक, मंगलवार देर रात एक मजदूर की गिरने से मौत हो गई। मृतक का नाम विजेन्द्र चौधरी बताया जा रहा है। जो बिहार का रहने वाला था। जिसका शव पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भिजवाया गया। जब अन्य मजदूरों को साथी की मौत की खबर लगी तो वह वहां पहुंच गए। इस दौरान प्रबंधन ने शव के पास मजदूरों को जाने नहीं दिया। इससे मजदूर आक्रोशित हो गए। उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। हालात इस कदर बिगड़े की मजदूर पथराव पर उतर आए। मजदूरों ने फैक्ट्री में खड़े वाहनों और बिल्डिंग पर जमकर पत्थर बरसाए और आग लगा दी। उन्होंने एंबुलेंस को भी नहीं छोड़ा और आग के हवाले कर दिया।

यूं ही नहीं भड़के श्रमिक
असल में एक श्रमिक की मौत के बाद फैक्ट्री में काम करने वाले अन्य श्रमिकों के अंदर दबा आक्रोश बाहर निकल पड़ा। वे पहले से ही प्रबंधन से गुस्साए थे, लेकिन संभवत: किसी मौके की तलाश में थे। श्रमिक की मौत हुई तो उनके अंदर की आग भड़क गई और इस तरह बवाल के साथ फूट पड़ी। असल में श्रमिको का आरोप था कि फैक्ट्री प्रबंधन श्रमिको से जरूरत से ज्यादा काम करा रहा है। उन्हें समय पर भत्ता या अन्य राशि का भुगतान भी नहीं किया जा रहा। यही नहीं, श्रमिको की सुरक्षा का भी ध्यान नहीं रखा जा रहा। काफी समय से इसी बात को लेकर वे प्रबंधन से शिकायत कर रहे थे, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही थी।

Special for You