देश में बर्ड फ्लू का कहर, चिकन और अंडा खाना कितना है सुरक्षित कितना असुरक्षित, यहां जानें

नई दिल्ली: अभी भी कोरोना संक्रमण से लोगों का बुरा हाल हैं वही दूसरी तरफ बर्ड फ्लू ने भारत में पैर पसारना शुरू कर दिया है। हिमाचल प्रदेश, केरल , पंजाब , हरियाणा, राजस्थान समेत अन्य राज्यों में बर्ड इन्फ्लूएंजा के चलते अब तक अनेकों पक्षी मारे जा रहे हैं। ऐसे में इन राज्यों के अधिकारियों को हज़ारों अन्य पक्षी प्रजातियों को बंद रखने के लिए मजबूर किया गया है।

आपको बता दें, ये पहली बार नहीं है जब भारत वासियों ने बर्ड फ्लू संक्रमण के बारे में सुना हो। इससे पहले भी इस संक्रमण ने कोहराम मचाया था। बर्ड फ्लू में ऐसा संक्रमण है जो आसानी से पक्षियों से इंसानों में फ़ैल सकता है। यही नहीं ये पक्षियों के अंडे से भी फ़ैल सकता है। आइए जानते है उन सभी सवालों के जवाब जो इन दिनों सभी चिकन प्रेमियों के मन में आ रहे होंगे।

बर्ड फ्लाई कैसे इंसानों को संक्रमित कर सकता है?
बर्ड फ्लू को मेडिकली एवियन इन्फ्लूएंजा कहा जाता है। जो की एक संक्रामक बीमारी है। ये बीमारी एक पक्षी से दूसरे पक्षियों, जानवरों और इंसानों तक फ़ैल सकती है। बता दें, ये सबसे खतरनाक H5N1 स्ट्रेन है जो पक्षियों के साथ-साथ इंसानों को भी प्रभावित करता है।

कैसे फैलता है बर्ड फ्लू?
ये पक्षियों के संपर्क में आने से फैलता है. ये वायरस आम तौर पर सर्दियों में फैलता है। जब विदेशी पक्षी भारत में आए हैं। माइग्रेटेड पक्षियों के ज़रिए भारतीय पक्षियों में ये वायरस आता है और फिर यहाँ के पक्षियों और इंसानों में फ़ैल जाता है। ये खतरनाक बीमारी ज़्यादातर वाइल्ड पक्षी और पोल्ट्री पक्षियों जैसे बत्तख और मुर्गियों में यह बीमारी देखी जाती है।

अगर अंडे-चिकन का सेवन करें तो इससे बर्ड फ्लू हो सकता है ?
अगर कोई पक्षी बर्ड फ्लू से संक्रमित है और इंसान उसके यूरिन और स्टूल के संपर्क में जाता है तो ऐसे में ये वायरस उस में भी प्रवेश कर सकता है। ऐसे में ना सिर्फ पक्षियों के संपर्क से बचे बल्कि चिकन और अंडा खाने से भी बचें। हालांकि, अगर ये दोनों अच्छे तरीके से धोएं, और साफ़ तरीके से पकाए जाएं तो ऐसे में इसका सेवन किया जा सकता है. इससे संक्रमण का खतरा नहीं होता।

कैसे धो कर खाएं अंडा और चिकन?
कई लोग मानते है कि साफ़ पानी में चिकन या अंडा धोने से उसमे मौजूद बैक्टीरिया और कीटाणु मर जाते हैं जब की ऐसा बिलकुल भी नहीं है। बर्ड फ्लू जैसे संक्रमण में आपको चिकन और अंडे को नमक वाले पानी में धोना चाहिए। उसके बाद इन्हें पेपर टावल से साफ करें। इन्हें सही तापमान में पकाएं और पूरी तरह से पकने के बाद ही खाएं।

क्या है बर्ड फ्लू का इलाज ?
डॉक्टरों के अनुसार पक्षियों में इस बीमारी का इलाज नहीं है। लेकिन इंसानों में इसके एंटी वायरस दवा है। अगर किसी में भी इस बीमारी के लक्षण दिखें तो डॉक्टर को तुरंत संपर्क करें।

Special for You