वो देश जहां बीच पर सब रहते थे नंगे, कोरोना ने ऐसी तबाही मचाई है कि…

पेरिस: कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया को बदलकर रख दिया है. दक्षिणी फ्रांसीसी शहर का एक रिसॉर्ट, जिसे ‘न्यूडिस्ट सिटी’ के नाम से भी जाना जाता है, अब COVID-19 हॉटस्पॉट में तब्दील हो गया है.

रिसॉर्ट कैप डी’ग्ड नेचुरिस्ट विलेज में आने वालों के लिए कपड़ों के भीतर खुद को छिपाने की बाध्यता नहीं है. ‘क्लॉथिंग ऑप्शनल’ दिशानिर्देशों का पालन करने वाले इस रिसॉर्ट की लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यहां खास मौकों पर एक दिन में 40,000 से ज्यादा लोग पहुंचते हैं. हालांकि कोरोना ने इसकी रंगत फीकी कर दी है.

न्यूडिस्ट बीच का यह रिसॉर्ट 150 लोगों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद COVID-19 हॉटस्पॉट बन गया है. रिसॉर्ट फ्रांस के Occitanie region के भूमध्यसागरीय तट के पास स्थित है. कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए यहां तीन चरणों में जांच का फैसला लिया गया है. पहले दिन लगभग 490 लोगों का परीक्षण किया गया, जिसमें से 95 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. जबकि घर वापस लौट चुके 50 लोग भी पॉजिटिव पाए गए हैं.

इन परीक्षण परिणामों के अलावा, स्थानीय अधिकारियों द्वारा 310 अतिरिक्त परीक्षणों का विश्लेषण किया जा रहा है. दरअसल, प्रशासन को शिकायत मिली थी कि दुनिया के सबसे बड़े इस न्यूडिस्ट रिसॉर्ट में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं और बिना मास्क लगाये सनबाथ ले रहे हैं. इसके बाद जब टेस्टिंग को अंजाम दिया गया था, तो ‘न्यूडिस्ट सिटी’ के नाम से प्रसिद्ध रिसॉर्ट में कई लोग कोरोना संक्रमित पाए गए.

पुलिस ने रिसॉर्ट में नियमों के उल्लंघन को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है. पुलिस में मुताबिक, रिसॉर्ट में बड़ी संख्या में लोग बिना मास्क के सनबाथ ले रहे थे. हालांकि, अब सभी ने नियमों का पालन करने आश्वासन दिया है. पुलिस ने कहा कि कुछ निश्चित स्थानों पर लोगों को बिना कपड़ों के घूमने की इजाजत है, लेकिन उन्हें अपने चेहरे को मास्क से ढंकना होगा.

वहीं, स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के महानिदेशक पियरे रिकोर्डो ने कहा कि सभी को नियमों का पालन करना होगा. संक्रमण व्यक्ति देखकर हमला नहीं बोलता. यदि COVID से बचना है तो मास्क लगाना होगा, सोशल डिस्टेंसिंग जैसे अन्य नियमों का भी पालन करना होगा.

Special for You