7 साल बाद ये ग्रह कर रहा है राशियो मे प्रवेश, जानिए किन राशियों पर पड़ेगा कितना असर

नई दिल्ली। भाद्रपद कृष्ण पक्ष की उदया तिथि दशमी और शुक्रवार का दिन है। दशमी तिथि दोपहर 2 बजकर 2 मिनट तक रहेगी। इसके साथ ही शाम 7 बजकर 56 मिनट पर हर्षल मेष राशि में वक्री होंगे। हर्षल हमारे सौरमंडल के सातवें वृत्त में रहता है और लगभग 84 वर्षों में सूर्य का एक चक्कर लगाता है, यानि कि यह एक राशि में सात वर्षों तक रहता है। ये वृत्त पृथ्वी पर राजनैतिक और धार्मिक परिवर्तन लाता है। यह व्यक्ति के अंदर आध्यात्मिक शक्ति और आत्मबल का संचार करता है।
जानिए हर्षल की शुभ स्थिति सुनिश्चित करने के लिये और अशुभ फलों से बचने के लिये आपको क्या उपाय करने चाहिए।

मेष राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके पहले स्थान पर गोचर कर रहा है। इस गोचर का प्रभाव आपको बेहद स्वार्थी और व्यक्तिवादी बना देगा। आप हर चीज़ में अपना फायदा देखने की कोशिश करेंगे। आप नई तकनीकों का विकास करने मे सफल होंगे। हर्षल के प्रभाव से आपकी मानसिक शक्तियां अचानक बढ़ सकती हैं। आपकी दृष्टी वैज्ञानिक हो जायेगी। आप हर चीज़ को एक अलग ही नजरिये से परखने की कोशिश करेंगे। ऑफिस में आपकी नेतृत्व शक्ति का सिक्का चलेगा। हर्षल से बेहतर नतीजे पाने के लिए दही या दही से बनी चीज़ों का सेवन करना चाहिए।

वृष राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके बारहवें स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल के गोचर से आपकी मानसिक तरंगे मजबूत होगी। दाम्पत्य जीवन खुशहाल रहेगा। आपको शैय्या सुख की प्राप्ति होगी। आर्थिक स्थिति अच्छी बनी रहेगी , जरूरतों को पूरा करने के लिये खुलकर पैसे खर्च करेंगे। तो हर्षल से बेहतरीन लाभ पाने के लिए आपको जैसमीन की सुगंध का उपयोग करना चाहिए।

मिथुन राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके ग्यारहवें स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल के गोचर से आपके अंदर मानवता की प्रवृती बढ़ेगी। आप दूसरों की मदद करने के लिये तत्पर रहेंगे। आपके विचार क्रान्तिकारी बन जायेंगे। व्यक्तिवादी प्रवृत्तियां बढ़ेगी। आपका टीम वर्क अच्छा होगा। हर्षल के प्रभाव का फायदा उठाने के लिये आपको किसी वृद्ध महिला को सूती कपड़ा गिफ्ट करना चाहिए।

कर्क राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके दसवें स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल के इस गोचर का प्रभाव आपकी नौकरी और करियर पर पड़ेगा। करियर की गाडी पटरी से उतर सकती है। इस दौरान व्यापार में बदलाव देखने को मिल सकते हैं। दूसरे लोगों पर अपने व्यक्तित्व का असर बनाये रखने के लिये आपको प्रयास करने होंगे। अतः हर्षल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये आपको तेजपत्ता और नमक का दान करना चाहिये, इससे आपका जीवन स्तर बेहतर होगा।

सिंह राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके नवें स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल के इस गोचर के प्रभाव से आपका धार्मिक विश्वास सुदृढ़ होगा, । इस बीच आप उग्र भी हो सकते हैं। आप समाज को सही रास्ता दिखाना चाहेंगे, आपको समस्याओं से अपना बचाव करते हुये समाज का मार्गदर्शन करना होगा। बाधाओं से बचाव के लिये आपको अपने घर की उत्तर-पूर्व दिशा में भगवान शंकर का चित्र लगाना चाहिए। ऐसा करने से आप समस्याओं से बचे रहेंगे। हाँ , चित्र को अपने बेडरूम में बिल्कुल भी न लगाएं।

कन्या राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके आठवें स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल गोचर के प्रभाव से आपकी अन्तश्चेतना जागेगी। आपके अन्दर नये विचार उत्पन्न होंगे। आपका स्वास्थ्य भी इस दौरान अच्छा बना रहेगा। आपके अन्दर नई स्फूर्ति आयेगी। । आप किसी परम्परागत सिद्धि को हासिल करने की कोशिश करेंगे। हर्षल के शुभ परिणाम सुनिश्चित करने के लिये आपको गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए।

तुला राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके सातवें स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल के गोचर के प्रभाव से आपको बिजनेस में थोड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। बिजनेस के ऊपर संदेह की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। अतः इस स्थिति से बचने के लिए आपको अपने घर में नेवले का एक चित्र लगाना चाहिये। संभव हो तो नेवले को दूध पिलाना चाहिये । स्थिति ठीक बनी रहेगी।

वृश्चिक राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके छठे स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल के गोचर के प्रभाव से आपको लोगों का सहयोग प्राप्त होगा। इस दौरान शोधकर्ताओं और गणितज्ञों से आपकी मुलाकात हो सकती है। आपको विकसित तकनीक में काम करने का मौका मिलेगा। हर्षल के गोचर से शुभ फलों की प्राप्ति के लिये आपको उगते हुये सूरज के दर्शन करने चाहिए। इससे आपको पॉजिटिव रिजल्ट मिलेंगे।

धनु राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके पांचवें स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल के इस गोचर के प्रभाव से आपके अन्दर क्रिएटिविटी बढ़ेगी। आप रचनात्मक कार्यों की ओर आकर्षित होंगे, आपके अन्दर नई चीज़ों को खोजने की प्रवृत्ति बढ़ेगी। तो हर्षल के गोचर के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये आपको नियमित रूप से संगीत सुनना चाहिए। इससे आपका मन खुश रहेगा और आपके अन्दर क्रिएटिविटी बढ़ेगी।

मकर राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके चौथे स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल के गोचर के प्रभाव से आप असमंजस भरी स्थिति में रहेंगे । हर्षल का यह गोचर आपको सुख की तलाश में घर से बाहर ले जा सकता है। आपको कुछ परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है। अतः इस स्थिति से बचने और शुभ फल पाने के लिये आपको घर के बहरी दरवाजे के बाईं ओर पानी से भरा बर्तन रखना चाहिए। इससे आपकी स्थिति में सुधार होगा।

कुंभ राशि
वक्री हर्षल फिलहाल आपके तीसरे स्थान पर गोचर कर रहा है। वक्री हर्षल का यह गोचर सोशल मीडिया में आपकी सक्रियता को और बढ़ा देगा। आप लोगों के बीच अपना दायरा बढ़ाना चाहेंगे। भाई-बहनों के साथ आपके संबंध अच्छे होंगे। हर्षल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये गाय को जौ की रोटी खिलानी चाहिए, यह

Special for You