धमाके से बर्बाद शहर: चारों ओर लाशें और रोते-बिलखते लोग, परमाणु बम जैसा हादसा

नई दिल्ली: लेबनान की राजधानी बेरूत में बीते मंगलवार को हुए धमाके ने पूरे देश को हिला के रख दिया। ये धमाका बिल्कुल छोटे परमाणु बम जैसा था। बेरूत में धमाके ने पूरा का पूरा आधा शहर खाली कर दिया। हर तरह वीरान दिखाई दे रहा है। सड़कों पर लाशों के चीथड़े इधर-उधर बिखरे पड़े थे। शहर की ऐसी हालत हो गई पल भर में, जिसका किसी को अंदाजा तक नहीं था।

कोई बड़ी आतंकी साजिश
राजधानी बेरूत बंदरगाह के पास बनी इमारतें, घर और शॉपिंग कॉम्प्लेक्स सब टूट कर गिर गए हैं। धमाके में घायलों का इलाज कौन करे क्योंकि अस्पतालों में भी भारी नुकसान हुआ है। अभी तक यह नहीं पता चला है कि यह धमाका हादसा था या फिर कोई बड़ी आतंकी साजिश थी।

हादसे के बाद अस्पतालों में इतने घायल पहुंच गए हैं कि अब वहां जगह कम पड़ रही है। जॉर्डन के भूकंप विज्ञानी कहते हैं कि जितनी तेज धमाका हुआ है। उससे बेरूत के चारों तरफ 4.5 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया।

साथ ही जहां धमाका हुआ वहां 2750 टन से ज्यादा अमोनियम नाइट्रेट रखा था। जिसमें विस्फोट होने की वजह से इतनी बुरी हालत हुई है। यह एक छोटे परमाणु बम के फटने जैसा माहौल था।

शहर की इमारतें क्षतिग्रस्त
शहर में धमाके बाद आसमान में मशरूम के आकार का बादल बना, जो पहले सफेद था और फिर अचानक नारंगी रंग का हो गया। इससे निकले प्रेशर की वजह से आधे बेरूत शहर की इमारतें क्षतिग्रस्त हो गई और टूट-टूट कर गिरने लगी। समुद्र में लहर तक उठ गई।

ये विस्फोट एक क्रम में शुरू हुए और लोगों को लगा कि बेरुत पोर्ट के पटाखा गोदाम में आग लगी है। लेकिन अचानक तेज धमाका हुआ और उसने पूरे शहर को चपेट में ले लिया। इस धमाके के बाद नाइट्रिक एसिड के बादल भी बने हैं। फिलहाल धमाके के कारण का पता लगाया जा रहा है।

Special for You