डीबीटी का बडा खुलासा: भारत में पांच तरह का कोरोना वायरस मौजूद

कोरोना वायरस के बढ़ते मरीजों की संख्या के बीच एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी) ने कहा है कि भारत में 9 देशों के 5 अलग-अलग किस्म का वायरस फैला है. डीबीटी ने यह खुलासा एक सर्वे रिपोर्ट के जरिए किया है. रिपोर्ट में कहा है कि पांच किस्म के अलग अलग वायरस देश के अलग-अलग राज्यों में मौजूद है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार डीबीटी ने कोरोना को लेकर तकरीबन 1000 सैंपल पर परीक्षण किया. पर्स परीक्षण अप्रैल में शुरू हुआ. बताया जा रहा है कि डीबीटी ने परीक्षण के दौरान जिनोम सिक्वेंस को देखा, जिसके बाद इसको लेकर रिपोर्ट प्रकाशित किया गया.

भारत में 20ए वायरस सबसे अधिक- रिपोर्ट के अनुसार परीक्षण में वायरस को 19ए, 19बी, 20ए, 20बी तथा 20सी के अलग-अलग भागों में बांटा गया. रिपोर्ट में देखा गया कि भारत के अधिकतर हिस्सों में 20ए वायरस मौजूद है. वहीं 19ए और 19बी भी भारी संख्या में मौजूद है.

कौन वायरस कहां से- डीबीटी परीक्षण रिपोर्ट के अनुसार 19ए और भी वायरस चीन से डायरेक्ट भारत आया है, जबकि 20ए, 20बी, और 20सी वायरस इटली, ब्रिटेन और सऊदी से आया है. बताया जा रहा है कि 20बी वायरस शुरूआती दौर में सबसे अधिक फैला

भारत में नहीं आएगा दूसरा दौर- वहीं आईसीएमआर के प्रमुख डॉ बलराम भार्गव ने कहा कि यह कहना कठिन है कि भारत में कोरोना संक्रमण का दूसरा दौर नहीं आयेगा. उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया के साथ-साथ हमारे देश में भी कोरोना संक्रमण की दर भौगोलिक स्थिति और डेमोग्राफी के कारण अलग -अलग है.

‘देश में संक्रमण और मृत्यु दर बिलकुल अलग-अलग है. कहीं संक्रमण और मृत्यु की दर ज्यादा है तो किसी-किसी इलाके में इसका प्रभाव बहुत ही कम है.’

Special for You