विधायकों की शिफ्टिंग के दौरान गहलोत के दावों की खुली गई पोल, भाजपाईयों की खिली बांछे

जयपुर। राजस्थान में राजनीतिक घमासान का दौर थमता नहीं दिख रहा है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) कहते आए हैं कि उनके पास बहुमत का पूरा आंकड़ा है, और वो फ्लोर टेस्ट के भी तैयार हैं। लेकिन शुक्रवार को गहलोत खेमे के सभी विधायकों को जयपुर से जैसलमेर शिफ्ट करते के दौरान विधायकों का जो आकंडा सामने आ रहा है वो नंबर गेम में गहलोत के दावों की पोल खोलता नजर आता है।

दरअसल राज्यपाल कलराज मिश्र ने सीएम गहलोत को सत्र बुलाने की इजाजत दे दी है। जिसके बाद गहलोत खेमे के विधायकों को आज जयपुर से जैसलमेर शिफ्ट किया गया। शिफ्टिंग के दौरान विधायकों की जो संख्या सामने आई है, उसने गहलोत गुट के अब तक के दावों की पोल खोल दी है। कभी 109, कभी 104 तो कभी 101 से ज्यादा विधायकों की बाड़ाबंदी के दावों के उलट शुक्रवार को जैसलमेर शिफ्टिंग के दौरान महज 97 विधायक नजर आए।

शिफ्टिंग के दौरान दिखे गहलोत खेमे में सिर्फ 97 विधायक
मीडिया रिपोट्‌र्स के अनुसार, जयपुर से जैसलमेर के सफर में पहले हवाई जहाज में 54 विधायक चढ़े, दूसरे चार्टर प्लेन में मात्र 6 विधायक तो तीसरे प्लेन में 37 विधायक रवाना हुए। इस तरह से देखा जाए तो अबतक कुल विधायक 97 ही होते हैं। बता दें, गहलोत खेमे के विधायकों की शिफ्टिंग सीएम के उस बयान के बाद हुई है जिसमें उन्होंने कहा था-“प्रदेश में विधायकों की खरीद-फरोख्त के रेट बढ़ गए हैं। जब से राज्यपाल कलराज मिश्र ने विधानसभा सत्र को हरी झंडी दी है, तब से हॉर्स टेड्रिंग में विधायकों के भाव बढ़ गए हैं।”

जैसलमेर के सूर्यागढ़ पहुंचे गहलोत के विधायक
गहलोत गुट के कांग्रेस विधायक जयपुर के होटल से निकल कर अब जैसलमेर के सूर्यागढ़ पहुंच गए हैं। इससे पहले जयपुर के फेयरमोंट होटल से बस के जरिए सभी विधायकों को एयरपोर्ट लाया गया, जहां से अब वो जैसलमेर पहुंचे हैं।

Special for You