4 राज्यों पर खतरा: कोरोना महामारी ने लिया भयानक रूप, बनेंगे कोरोना हॉटस्पॉट

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 14 लाख से ज्यादा है। हाल के कुछ दिनों में रोजाना 45 हज़ार से ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं। पूरा देश कोरोना से प्रभावित हैं लेकिन चार राज्य ऐसे हैं, जिन्होंने चिंता बढ़ा दी हैं। यहां हालात इतने खराब है कि आगामी दिनों में पूरे राज्य को कोरोना का हॉटस्पॉट घोषित किया जा सकता है। इनमे बिहार, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल का नाम शामिल हैं। इन चारों राज्यों में हर दिन मरीजों की संख्या में रिकॉर्ड तोड़ इजाफा हो रहा है।

चार राज्यों में कोरोना का भयानक आंकड़ा:
बिहार-राज्य में 36 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित मामले सामने आये। वहीं अब तक 232 लोगों की मौत हो चुकी है। हर दिन यहां सैंकड़ों नए संक्रमित स्पॉट हो रहे हैं।

कर्नाटक- में करीब एक लाख कोरोना संक्रमित केस हो चुके हैं और मरने वालों का आंकड़ा दो हजार होने वाला है। यहां 25 जुलाई को एक दिन में अब तक के सबसे ज्यादा 5,072 नए कोविड-19 के मामले सामने आए।

आंध्र प्रदेश- इस राज्य में 88 हजार से ज्यादा कोविड मामले हैं और 985 लोगों की कोरोना की चपेट में आकर मौत हो गयी। आंध्र प्रदेश में में हर दिन हजारों की तादाद में संक्रमित मिल रहे हैं। बीते तीन दिनों में क्रमश: 6045, 7998 और 8147 केस आए हैं।

पश्चिम बंगाल- वेस्ट बंगाल में अब तक कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 58,718 हो चुका है और मरने वालों की संख्या 1 हजार 300 से ज्यादा है।

हॉटस्पॉट बनने के करीब 4 राज्य, ये है वजह
किसी भी इलाके के कोरोना हॉटस्पॉट बनाये जाने की तीन वजह होती है, पहली – पॉजिटिव रेट में इजाफा, दूसरी -रोज आने वाले नए संक्रमितों की ग्रोथ रेट और तीसरी- दस लाख की आबादी पर टेस्टिंग की स्थिति।

ऐसे हालात शुरू ने दिल्ली, महाराष्ट्र और तमिलनाडू में देखने को मिले थे और इन तीनों राज्यों को हॉटस्पॉट बना दिए गए थे। लेकिन हाल ही में इन राज्यों में न केवल कोरोना का आंकड़ा थमा है, बल्कि टेस्टिंग बढ़ी और कोरोना का प्रतिदिन आने वाला ग्रोथ रेट भी कम हुआ। हलांकि अब ये स्थिति बिहार, आंध्र, पश्चिम बंगाल और कर्नाटक की हो गयी है। ऐसे में ये चारों राज्य हॉटस्पॉट बनने की कगार पर पहुंच गए हैं।

इन राज्यों में आई आफत, दोगुने होते जा रहे केस:
ये चिंता की बात है कि भारत में इन दिनों लगभग हर 20 दिनों में कोरोना के केस दोगुने हो रहे हैं। कर्नाटक में सबसे ज्यादा मरीज दोगुनी संख्या में बढ़ते जा रहे हैं। यहां हर 6 दिनों में कोरोना के मरीज़ों की संख्या दोगुनी हो रही है। इसके बाद आंध्र प्रदेश में कोरोना आंकड़ा 14 दिनों में ही डबल हो गया था, हालाँकि अब 7 दिनों में आंकड़ा दोगुना हो रहा है। पश्चिम बंगाल में ये 8 दिनों में कोरोना मरीज डबल हो रहे है, वहीं बिहार में 15 दिनों में मरीज़ों की संख्या दोगुनी हो रही है।

10 लाख की आबादी पर टेस्टिंग में फेल ये राज्य
कोई भी इलाक़ा हॉटस्पॉट की श्रेणी में तब आता है, जब वहां टेस्टिंग की स्थिति 10 लाख की आबादी में कम होती है। भारत में हर 10 लाख की आबादी पर 12222 लोगों के टेस्ट हो रहे हैं। देश में आंध्र प्रदेश टेस्टिंग में टॉप पर है। यहां हर 10 लाख की आबादी पर सबसे ज्यादा 30,556 टेस्ट हो रहे हैं, जबकि कर्नाटक में 17375 टेस्ट हो रहे हैं। बिहार की हालत सबसे ज्यादा खराब है। यहां हर 10 लाख की आबादी पर सिर्फ 3,699 टेस्ट हो रहे हैं। वहीं बंगाल में 8143 टेस्ट हो रहे है।

Special for You